जो बाइडन अपने कार्यकाल में भारत के साथ रखेंगे मजबूत रिश्ते

अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन अपने कार्यकाल में अमेरिका और भारत के साथ मजबूत रिश्ते रखेंगे। इस बात पर विदेश नीति की एक विशेषज्ञ ने जानकारी साझा की है कि नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन

अमेरिका: अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन अपने कार्यकाल में अमेरिका और भारत के साथ मजबूत रिश्ते रखेंगे। इस बात पर विदेश नीति की एक विशेषज्ञ ने जानकारी साझा की है कि नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन आने वाले समय में भारत के साथ अधिक सोच विचार वाली साझेदारी रखेगा। चीन के बढ़ते प्रभाव को संतुलित रखने के लिए उसे भारत के साथ काम करने का अवसर मिलेगा।

वरिष्ठ नीति सलाहकार रहीं सोहिनी चटर्जी ने बताया कि, दोनों प्रशासनों में थोड़ी बहुत कुछ मामलों में अनुरूपता दिखेगी, क्योंकि मौजूदा राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और बाइडन दोनों का यह मानना है कि भारत में एक महत्वपूर्ण रणनीतिक साझेदार है। उन्होंने बताया कि डोनाल्ड ट्रंप ने भारत के साथ कम समय में अच्छे रिश्ते बनाए है।

ये भी पढ़े : फर्रूखाबाद में सपा कार्यकर्ताओं ने मुलायम सिंह यादव का मनाया 82वां जन्मदिन

वही उम्मीद जताई जा रही है कि बाइडन प्रशासन भी भारत के साथ अच्छे संबंध बिना किसी जल्दबाजी के और अधिक सोच विचार वाले रहने की उम्मीद है। मेरा विचार है कि क्षेत्र में चीन के बढ़ते प्रभाव को संतुलित रखने के लिए निश्चित ही भारत के साथ मिलकर काम करने का मौका मिलेगा। एक ऐसा संवाद बनाने का अवसर मिलेगा, जिसकी हम सभी को आवश्यकता है। सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि जापान और ऑस्ट्रेलिया के साथ वाली क्वाड साझेदारी भी होगी।

ये भी पढ़े : नासिक: कोरोना के बढ़ते मामले पर भुजबल का फैसला, चार जनवरी तक बंद रहेंगे स्कूल

बाइडन की योजना पेरिस जलवायु समझौते में शामिल होने की है। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद समेत बहुपक्षीय संस्थानों में भारत और अमेरिका के बीच और अधिक सहयोग होगा। कोलंबिया यूनिवर्सिटी में फैकल्टी सदस्य चटर्जी ने बताया कि, बाइडन के लिए मानवाधिकार का विषय एक आवश्यक मुद्दा और बुनियादी व मूलभूत मानवाधिकारों को लेकर अधिक संवेदनशील होगा।

Related Articles

Back to top button