पत्रकार गौरी लंकेश हत्याकांड का आरोपी झारखंड से हुआ गिरफ्तार

धनबाद: गौरी लंकेश सामाजिक कार्यकर्ता और पत्रकार थीं और उनकी बेंगलुरु में 5 सितंबर 2017 को उनके घर के सामने गोली मारकर हत्या की गई थी। पुलिस ने बताया था कि तीन संदिग्ध गौरी के घर में घुसे और उन पर नजदीक से गोलियां चलाईं, जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई। गौरी सांध्य मैगजीन लंकेश पत्रिका की संपादक थीं। वह मशहूर कवि और पत्रकार पी लंकेश की बेटी थीं।

पत्रकार गौरी लंकेश हत्याकांड में बेंगलुरु एसआइटी ने गुरुवार को धनबाद के कतरास से आरोपित ऋषिकेश देवरिकर उर्फ राजेश को गिरफ्तार किया। जानकारी के मुताबिक गौरी लंकेश हत्याकांड का आरोपी ऋषिकेश कतरास के व्यवसायी प्रदीप खेमका के पेट्रोल पंप में पहचान छुपा कर रह रहा था| उसे बेंगलुरु की एसआईटी ने छापेमारी कर धरदबोचा है| भगत मोहल्ला में वह पेट्रोल पंप के मालिक के ही घर में किराये पर रह रहा था।

बता दें कि गौरी लंकेश हत्याकांड के अधिकतर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। ऋषिकेश के हिंदूवादी संगठन से जुड़े होने की बात कही जा रही है। शुक्रवार को पुलिस ऋषिकेश को कोर्ट में प्रस्तुत करने के बाद ट्रांजिट रिमांड पर बंगलूरू ले जाएगी। 5 सितंबर 2017 को गौरी लंकेश की बंगलूरू स्थित उनके आवास के बाहर गोली मार कर हत्या कर दी गई थी। जांचकर्ताओं ने कहा कि समूह ने ऐसे लोगों की सूची तैयार की थी जिनकी वह हत्या करना चाहता था और उस सूची में रंगकर्मी गिरिश कर्नाड और के.एस. भगवान का भी नाम था।

Related Articles