अनंतनाग में चुनाव के दौरान पत्रकारों के साथ मारपीट, पुलिस अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई

अनंतनाग में डीडीसी चुनाव के दौरान तीन पत्रकारों के साथ मारपीट, दोषी पुलिस अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले में जिला विकास परिषद (डीडीसी) चुनाव की कवरेज करने गए तीन पत्रकारों के साथ पुलिस द्वारा मारपीट कर उन्हें 90 मिनट तक हिरासत में रखने का मामला सामने आया है।

मतदान को लेकर पत्रकारों का बयान

प्राप्त जानकारी के अनुसार मुदासिर कादरी (न्यूज 18 उर्दू), जुनैद रफीक (टीवी 9) और फयाज लोलू (ईटीवी भारत) के पत्रकार अनंतनाग जिले में हो रहे डीडीसी चुनाव की कवरेज के लिए श्रीगुफवाड़ा के मतदान केन्द्र गए थे। मतदान केन्द्र के बाहर मतदाता पंक्ति में खड़े हुए थे। पत्रकारों के अनुसार मतदान शुरू होने का समय सुबह सात बजे था लेकिन साढ़े आठ बजे तक भी मतदान शुरू नहीं हुआ था।

SSP ने बिना कारण पत्रकारों को पीटा

तीनों पत्रकारों ने जब वहां खड़े एक पुलिस अधिकारी से मतदान में देरी का कारण पूछा तो उसने बताया कि वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) संदीप चौधरी आने वाले हैं। पत्रकारों ने कहा कि एसएसपी ने आते ही बिना किसी कारण ही पत्रकारों को पीटना शुरू कर दिया और तीनों पत्रकारों को पुलिस के एक वाहन में भरकर श्रीगुफवाड़ा पुलिस स्टेशन ले गए।

थाने में इलेक्ट्रॉनिक उपकरण

पत्रकारों के मुताबिक अन्य पुलिस एवं सुरक्षाकर्मियों का व्यवहार काफी सहयोगपूर्ण रहा। पत्रकारों को करीब 90 मिनट बाद छोड़ दिया गया लेकिन उनके मोबाइल फोन और इलेक्ट्रॉनिक उपकरण थाने में ही थे। एक पत्रकार को सांस लेने में परेशानी होने के कारण एक स्थानीय अस्पताल ले जाया गया।

पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई

कश्मीर प्रेस क्लब (केपीसी) ने दोपहर बाद एक वक्तव्य जारी कर पुलिस की इस कार्रवाई की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि पत्रकार केवल अपना काम कर रहे थे। केपीसी ने इस घटना की जांच की मांग करते हुए प्रशासन तथा मुख्य चुनाव अधिकारी से दोषी पुलिस अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है।

यह भी पढ़ेCritics’ Choice Movie Awards: तीसरा संस्करण देगा सरप्राइज, कलाकार होंगे सम्मानित

यह भी पढ़ेराहुल गांधी का PM मोदी पर हमला, बोले ‘मानवता के विरुद्ध अपराध कर रही है सरकार’

Related Articles