27 जुलाई चंद्रग्रहण पर बन रहा अत्यंत खास संयोग, ये है ‘सूतक’ का सटीक समय

दुनिया संसार में निरंतर बदलाव होते रहते हैं। इन बदलावों के साथ हमें बहुत सी चीज़ें देखने को भी मिलती है। हर साल दुनिया में सूर्यग्रहण तथा चंद्रग्रहण भी लगता है जिसका तरह-तरह का प्रभाव देखने को मिलता है। साल 2018 का चंद्रग्रहण इस माह 27 जुलाई को लगने जा रहा हगे जिसे ‘सूतक’ का सही समय भी बताया जा रहा है। ज्योतिषों के अनुसार इस माह आषाढ़ मास की शुक्ल की पूर्णिमा को चंद्रग्रहण लग रहा है।

ज्योतिषाचार्य के मुताबिक इस बार चंद्रग्रहण पर अत्यंत खास संयोग बन रहा है, क्यूंकि ग्रहण के अगले ही दिन पवित्र सावन मास शुरू हो रहा है। बात करें ग्रहण की तो चंद्रग्रहण रात्रि 11 बजकर 54 मिनट पर शुरू होगा जिसकी समाप्ति रात्रि 3 बजकर 5 मिनट पर होगी। जानकारों के अनुसार यह चंद्रग्रहण पूरे भारत में दिखाई देगा।

कहा जा रहा है की इस चंद्रग्रहण का सूतक दोपहर 2 बजे से आरम्भ हो जाएगा। हमेशा से यह मान्यता रही है कि चन्द्रग्रहण की अवधि में भोजन नहीं करना चाहिए। साथ ही चंद्रग्रहण के दौरान सुईं और नुकीली चीजों का प्रयोग नहीं करना चाहिए। इस चंद्रग्रहण में छोटे बच्चे बुजुर्ग और रोगी शाम 5 बजकर 55 मिनट तक भोजन कर सकते हैं। यदि कोई रोगी अत्यधिक बीमार हैं तो वे डॉक्टर द्वारा बताए समय पर दवा ले सकते हैं।

अगर बात करें गर्भवती महिलाओं की तो उन्हें ग्रहण नहीं देखना चाहिए। इस पूर्ण चंद्रग्रहण के दौरान मंगल ग्र‍ह धरती के काफी करीब होगा। वहीं 30 जुलाई को धरती और मंगल ग्रह के बीच दूरी कम होकर 57.58 मिलियन किमी रह जाएगी। ऐसे में आसमान साफ होने पर उसे रात में आसानी से देखा जा सकता है।

वहीं 27 जुलाई 2018 को चन्द्रमा पृथ्वी धरती से देखने पर बहुत छोटा दिखाई देगा। खगोलविदों के अनुसार छोटा चांद धरती की छाया को पार करने में ज्यादा समय लेता है। ऐसे में इस बार सबसे बड़ा चंद्रग्रहण दिखाई देगा। चंद्रग्रहण के दौरान चांद का रंग नारंगी के अलावा ब्लड रेड, डार्क ब्राउन, डार्क ग्रे रह सकता है। यह उस बात पर निर्भर करेगा कि आप धरती के किस हिस्से से उसे देख रहे हो। यह दिखने में काफी रोचक भी होगा।

Related Articles