ईवीएम की खराबी को अखिलेश यादव ने बताया साजिश

0

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कल कैराना व नूरपुर सीट पर उपचुनाव हुए। इस चुनाव के दौरान भी विपक्ष ने ईवीएम में खराब होने की शिकायत की है। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने इसपर नाराजगी जाहिर करते हुए इसे एक साजिश करार दिया है। उनका कहना है कि ईवीएम ख़राब करके जनता को वोट डालने से रोका गया है।अखिलेश यादव

ईवीएम की गड़बड़ियों की खबर के बाद अखिलेश यादव ने ट्वीट कर लिखा कि उपचुनाव में जगह-जगह से वोटिंग मशीन खराब होने की खबरें आ रही हैं, लेकिन फिर भी अपने मताधिकार के लिए जरूर जाएं और अपना कर्तव्य निभाएं।”

फिर कुछ देर बाद चुनाव आयोग को भेजा गया शिकायती पत्र पोस्ट करते हुए ट्वीट किया कि शामली, कैराना, गंगोह, नकुड, थानाभवन और नूरपुर के लगभग 175 पोलिंग बूथों से ईवीएम और वीवीपैट मशीन के खराब होने की शिकायत तुरंत सुनी जाए।

इसके बाद भी ईवीएम खराब होने की खबरें तेजी से आती रहीं और उनका पारा बढ़ता गया। अखिलेश ने फिर एक ट्वीट किया, “हजारों ईवीएम में खराबी की शिकायतें आ रही हैं। किसान, मजदूर, महिलाएं व नौजवान भरी धूप में अपनी बारी के इंतजार में भूखे-प्यासे खड़े हैं। ये तकनीकी खराबी है या चुनाव प्रबंधन की विफलता या फिर जनता को मताधिकार से वंचित करने की साजिश? इस तरह से तो लोकतंत्र की बुनियाद ही हिल जाएगी।”

उधर, सपा कार्यालय में आयोजित प्रेस कान्फ्रेंस में सपा के मुख्य प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने भाजपा पर ईवीएम मशीनों को खराब करने और लेखपाल, सिपाही द्वारा शराब और पैसा बांटकर सरकार के पक्ष में वोट डालने के लिए लोगों को प्रेरित करने का आरोप लगाया है। उन्होंने चुनाव आयोग से उपचुनाव फिर से कराने और नई तारीखों की घोषणा करने की मांग की है।

चौधरी ने कहा कि चुनाव राजनीतिक दल का होता है, लेकिन यूपी में सरकार चुनाव लड़ रही है। सपा के गढ़ वाले इलाकों में बड़ी मात्रा में मशीनें खराब की गई हैं। भाजपा गोरखपुर और फूलपुर की हार का बदला लेने के लिए तरह-तरह के हथकंडे अपनाकर चुनाव जीतना चाहती है।

वहीं ईवीएम मशीन में खराबी पर मुख्य निर्वाचन अधिकारी एल। वेंकटेश्वरलु का कहना है कि अत्यधिक गर्मी के चलते ईवीएम में तकनीकी समस्याएं आ रही हैं।

loading...
शेयर करें