अंतर्राष्ट्रीय भोजपुरी सेवा न्यास के तत्वावधान में सावन के तिसरे दिन‌ ऑनलाइन हुआ कजरी महोत्सव

लखनऊ: अंतर्राष्ट्रीय भोजपुरी सेवा न्यास के तत्वावधान में चल रहे ये कजरी महोत्सव के कार्यशाला आज प्रतिभागियों को उक्त कजरी गीत को आज अंतरराष्ट्रीय भोजपुरी सेवा न्यास परिवार की संरक्षिका और कजरी कार्यशाला की प्रशिक्षिका शशिलेखा सिंह ने आनलाइन गाकर कजरी गीत के अंतरा को एक एक मात्रा को बहुत ही बारीकी से गा गा कर बताया।

तीसरे दिन कजरी महोत्सव

सावन के आज तीसरे दिन मंगलवार 27 जुलाई 2021 को अन्तर्राष्ट्रीय भोजपुरी सेवा न्यास परिवार के तत्वावधान में कजरी महोत्सव कार्यशाला का दूसरे दिन प्रतिभागी अपनी अपनी प्रस्तुति दिया। ‘घेरी आई सखी कारी बदरिया, बरसन लागी सखी मोरी अटरिया’ शीर्षक से आयोजित इस कार्यक्रम का तीसरे दिन अंतर्राष्ट्रीय भोजपुरी सेवा न्यास के अध्यक्ष परमानंद पांडेय के उपस्थित में अंतर्राष्ट्रीय भोजपुरी सेवा न्यास परिवार की संरिक्षका और कार्यशाला की प्रशिक्षिका शशिलेखा सिंह ने सभी प्रतिभागियों को
कि हरे रामा
बनले मरद से नारी
कीसन मुरारी ए हरी
की कीसन मुरारी ए हरी
की मदन मुरारी ए हरी

एक एक कर सभी प्रतिभागियों की कजरी गा कर प्रतिभाग ले रहे प्रतिभागियों को अंतरा का एक एक उच्चारण के मात्रा को बहुत बारीकी से समझाकर अभ्यास कराया।

कि हरे रामा बनले
मरद से नारी
किसन मुरारि
ए हरी की
की कीसन मुरारी ए हरी
की मदन मुरारि ए हरी
अपने अंखियां
कजरवा लगवले
माथे बिंदिया
खुब सजवले
हो रामा अरे रामा
अपने अंखियां में हो
अपने अंखियां में
कजरा लगवलें
माथे बिंदियां
खुब सजवले हो रामा
की अरे रामा
तिरछी डारी
किसन मुरारी हे हरी
कीसन मुरारी ए हरी
मदन मुरारी ए हरी
की हरे रामा
बनले मरद से नारी
कीसन मुरारी हे हरी

झट पहीरे कुसुम
रंग सारी जा पहुंचे
राधा क दुआरी हो रामा
झट पहीरे हो झट पहीरे हो
झट पहीरे कुसुम रंग सारी
जा पहुंचे राधा के
दुआरी हो रामा
संखीया ले ल न
चुरीया हमारी
पिया क लागी
प्यारी ए हरी
पिया के लगी
प्यारी ए हरी
कि हरे रामा बनले
मरद से नारी
कीसन मुरारी ए हरी।
कीसन मुरारी ए हरी।

ऑनलाइन हुआ कजरी गायन

आज तीसरे दिन कजरी गायन ऑनलाइन गुगल मीट पर कजरी गीतों की प्रस्तुतिकरण और प्रशिक्षण में भाग लेने वाली प्रतिभागी रीता श्रीवास्तव, नर्वदा उर्फ मधु श्रीवास्तव, सुमन पांडेय,अंजली सिंह, हेमलता त्रिपाठी, सीमा अग्रवाल, अर्पणा सिंह, नीरु श्रीवास्तव, शैली सिंह, बंदना तिवारी, सुधा तिवारी, कल्पना जौहरी, भारती श्रीवास्तव गाजियाबाद, नीरु श्रीवास्तव, प्रियंका पांडेय, कंचन श्रीवास्तव, रीता पांडेय, भारती श्रीवास्तव, कुसुम मिश्रा, रीना मिश्रा, इंदु दुबे गायत्री त्रिपाठी, मंजुला पांडेय, तन्नु कुमारी चौहान, विभा श्रीवास्तव, सरला गुप्ता, कल्पना सक्सेना, अम्बुज अग्रवाल, राम बहादुर राय अकेला सम्मलित हुए।

सभी पदाधिकारी गण रहे मौजूद

मंगलवार को तीसरे दिन भी अंतर्राष्ट्रीय भोजपुरी सेवा न्यास के सभी पदाधिकारी गण उपाध्यक्ष दुर्गा प्रसाद दुबे, दिग्विजय मिश्र, संयुक्त सचिव राधेश्याम पांडेय, जे पी सिंह, न्यासी शाश्वत पाठक, प्रसून पांडेय, सुदर्शन दुबे, दिव्यांशु दुबे, अखिलेश द्विवेदी, दशरथ महतो, गयानाथ यादव, और ऊषाकान्त मिश्र, विनीत तिवारी, निलेन्द्र त्रिपाठी, पुनीत निगम आदि भी मौजूद रहे।

Related Articles