बंसी घाट पर पूरे राजकीय सम्मान के साथ हुआ Kalyan Singh का अंतिम संस्कार

बुलंदशहर: उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह (Kalyan Singh) 21 अगस्त को निधन हो गया था। सोमवार दोपहर गंगा नदी के तट पर बुलंदशहर के नरोरा कस्बे के बंसी घाट पर पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया।

दिग्गज नेता रहे मौजूद 

गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती, केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी और कई अन्य कैबिनेट मंत्री भी बसी घाट पर मौजूद थे और उन्हें पुष्पांजलि अर्पित की। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रविवार को लखनऊ से लाए गए भाजपा नेता के पार्थिव शरीर के साथ ही रहे।

पुजारियों को धार्मिक भजन गाते हुए सुना गया, जबकि राज्य के पुलिस अधिकारियों ने दिवंगत कल्याण सिंह के पार्थिव शरीर को सलामी दी। उनके अंतिम दर्शन के लिए हजारों की संख्या में लोग एकत्रित हुए थे। अंतिम संस्कार के दौरान ‘जय श्री राम’ के नारे लगते रहे। इस मौके पर हजारों समर्थकों और अनुयायियों के अलावा यूपी के कई मंत्री भी मौजूद थे। अंतिम संस्कार दिवंगत नेता के बेटे और सांसद राजवीर सिंह ने किया, जिनके साथ उनके बेटे संदीप सिंह, राज्य सरकार में मंत्री थे।

पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह (Kalyan Singh) जो कुछ समय से बीमार थे, लखनऊ के संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान (SGPGI) में सेप्सिस और बहु-अंग विफलता के कारण निधन हो गया। कल्याण सिंह दो बार के मुख्यमंत्री (जून 1991 से दिसंबर 1992 और सितंबर 1997 से नवंबर) 1999), सिंह ने राजस्थान के राज्यपाल (2014-2019) के रूप में भी कार्य किया। सिंह ने राज्य और केंद्र दोनों स्तरों पर भाजपा में विभिन्न संगठनात्मक पदों पर कार्य किया।

यह भी पढ़ें: Kalyan Singh को याद करते हुए भावुक हुए Amit Shah, कही कुछ बातें

(Puridunia हिन्दीअंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)…

Related Articles