IPL
IPL

कमला हैरिस : एक माहिर मुसाफिर के व्हाइट हाउस पहुंचने का सफर

न्यूयॉर्क: अमेरिका की नवनिर्वाचित उपराष्ट्रपति कमला हैरिस (Kamala Harris) ओकलैंड, कैलिफोर्निया, अर्बाना शैम्पेन, इलिनॉय, बर्कले, क्यूबेक, कनाडा, वाशिंगटन डी.सी. के बाद दो बार कैलिफोर्निया (California) का सफर कर चुकी हैं और अब व्हाइट हाउस (The White House) पहुंचने जा रही हैं। जब कमला हैरिस (Kamala Harris) आखिरकार देश के बेहद प्रभावशाली ओहदे पर पहुंची हैं तो यह अमेरिका में उनके लंबे सफर का एक परमोत्कर्ष है।

कमला हैरिस ने अपने संस्करण ‘द ट्रथ्स वी होल्ड’ में लिखा है, “मैं 12 साल की थी और फरवरी में कैलिफोर्निया से दूर स्कूल के साल के मध्य में, 12 फीट बर्फ से ढके एक फ्रांसीसी भाषी विदेशी शहर में जाने का विचार परेशान कर देने वाला था।”

अमेरिका की पहली महिला उपराष्ट्रपति के रूप में हैरिस का आगमन पहियों की कहानी है, जो रुक-रुक कर चलती है और नई दिशाओं में निकलती है। सबसे पहले, उनके माता-पिता अकादमिक उपलब्धि की तलाश में आए और फिर हैरिस ने अपने राजनीतिक करियर में चार चांद लगाया। उन्होंने 2019 के एक साक्षात्कार के दौरान पत्रकार डैना गुडइयर को बताया था, “मेरे बचपन की बहुत ज्वलंत स्मृति मेफ्लावर ट्रक थी।”

अमेरिकी शहरों के बीच हैरिस की यात्रा

लेकिन अमेरिकी शहरों के बीच हैरिस की यात्रा लगभग एक महिला यात्री के बाद आता है और हैं उनकी मां श्यामला गोपालन, जो तमिलनाडु की हैं। जब श्यामला 1958 में अमेरिका आई थीं तो तब वह 19 साल की थीं और अपने परिवार से विदेश में पढ़ने जाने वाली पहली शख्स थीं। उन्होंने एक ऐसी यूनिवर्सिटी में दाखिला लिया, जिसे उन्होंने पहले कभी नहीं देखा था, एक ऐसे देश में थीं, जहां पहले वह कभी नहीं गई थीं।

ये भी पढ़ें : तांडव के बाद अब वेब सीरीज मिर्जापुर पर मामला दर्ज, लगा ये आरोप

कमला हैरिस के पिता की कहानी

कमला के पिता डोनाल्ड हैरिस का भी कुछ ऐसा ही सफर रहा था। वर्ष 1961 में कमला के माता-पिता से मुलाकात हुई और 1963 में शादी हुई। कुल मिलाकर कमला हैरिस की कहानी एक मंजी हुई यात्री की है। जब वह उपराष्ट्रपति पद की शपथ लेंगी, तब यह उनकी मां की मातृभूमि मद्रास और पिता की मातृभूमि ब्राउन्स टाउन (जमैका) के लिए एक सर्वश्रेष्ठ उपहार होगा।

Related Articles

Back to top button