कर्नाटक में भी खिलेगा कमल, कांग्रेस के सभी मंत्रियों ने दिया स्तीफा

गिरने की कगार पर कर्नाटक की कांग्रेस सरकार

बंगलुरु: कर्नाटक में एक दर्जन से अधिक विधायकों के इस्तीफे से संकट में फंसी 13 माह पुरानी कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन सरकार को बचाने के लिए अंतिम कोशिश कर रही है। सोमवार को मंत्रिमंडल में फेरबदल करने और असंतुष्ट विधायकों को उसमें जगह देने के लिए अपने मंत्रियों से कांग्रेस ने स्वेच्छा से इस्तीफा ले लिया है। उपमुख्यमंत्री जी परमेश्वर के निवास पर हुई कांग्रेस मंत्रियों की बैठक में यह निर्णय लिया गया। बैठक में कांग्रेस विधायक दल के नेता सिद्धारमैया और कांग्रेस महासचिव के सी वेणुगोपाल ने भी हिस्सा लिया।इस बैठक के बाद मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी ने कांग्रेस नेताओं से बातचीत की। कांग्रेस-जेडीएस के 13 बागी विधायकों ने शनिवार को इस्तीफा दे दिया था, और सोमवार को एक और निर्दलीय विधायक ने अपना इस्तीफा सौंप दिया है। इस्तीफे मंजूर हुए तो 224 सीटों वाली कर्नाटक विधानसभा में सदस्यों की संख्या 209 रह जाएगी। ऐसे में बहुमत के लिए 105 विधायकों की जरूरत पड़ेगी। गठबंधन के विधायकों की संख्या घटकर अब 103 हो गई है। ऐसी स्थिति में सरकार अल्पमत में है। वहीं भाजपा के पास 105 विधायक हैं। कर्नाटक के मुख्यमंत्री और जेडीएस नेता एचडी कुमारस्वामी ने कहा कि जो भी मुद्दे हैं उन्हें जल्द ही सुलझा लिया जाएगा। यह सरकार अपना कार्यकाल पूरा करेगी।कर्नाटक परिवहन मंत्री और जेडीएस नेता डीसी थमन्ना ने इस बात की पुष्टि की कि पार्टी नेताओं ने इस्तीफे को लेकर कोई दिशा-निर्देश जारी नहीं किए हैं। उन्होंने कहा, ‘यदि वह कहते हैं तो मैं निश्चित तौर पर इस्तीफा दूंगा।’कांग्रेस के एक और विधायक ने सोमवार को इस्तीफा देने की धमकी दी है। कर्नाटक के मंत्री एवं बीदर उत्तर के विधायक रहीम महमूद खान ने कहा कि उन्होंने कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं को अपनी समस्याओं के बारे में सूचित कर दिया है और उपमुख्यमंत्री जी परमेश्वर के निवास पर बैठक के बाद फैसला लेने की बात कही। खान ने कहा कि वह बागी समूह के साथ नहीं जाना चाहते लेकिन स्थिति ने उन्हें फैसला लेने पर मजबूर किया है। बागी विधायकों को खुश करने की कोशिश में कांग्रेस के सभी मंत्रियों ने कांग्रेस अध्यक्ष को अपना इस्तीफा सौंप दिया है। वहीं जेडीएस के मंत्रियों ने भी एचडी कुमारस्वामी को अपना इस्तीफा दे दिया है। इन सभी की जगह बागी विधायकों को मंत्री पद दिया जाएगा। कांग्रेस को उम्मीद थी कि मंत्रियों के इस्तीफे के बाद नाराज विधायक मान जाएंगे, लेकिन ऐसा होता नहीं दिख रहा है।

खास बातें

  • कर्नाटक के मंत्री एवं निर्दलीय विधायक नागेश ने इस्तीफा दिया, सरकार से वापस लिया समर्थन।
  • 14 विधायकों के इस्तीफे स्वीकार होने की सूरत में कुमारस्वामी सरकार के पास बहुमत नहीं रह जाएगी।
  •  कांग्रेस के सभी 22 मंत्रियों का इस्तीफा, संसद तक पहुंचा मामला।
  • निर्दलीय विधायक नागेश के समर्थन वापस लेने के बाद गठबंधन विधायकों संख्या घट कर 104 पर पहुंची।

Related Articles