बेगूसराय में आज नामांकन भरेंगे कन्हैया कुमार,हो सकती है ये बड़ी हस्तिया शामिल

पटना : देश की 17वीं लोकसभा चुनाव अब बिल्कुल क़रीब आ गया है। यही वजह है कि राजनीतिक दलों समेत नेताओं ने अपनी कमर कस ली है। लोकसभा चुनाव 2019 में ‘हॉट सीट’ बनी बेगूसराय पर सबकी नजरें हैं। जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष और बेगूसराय से सीपीआई के उम्मीदवार कन्हैया कुमार आज अपना नामांकन दाखिल करेंगे। जहाँ उनका मुकाबला भाजपा उम्मीदवार गिरिराज सिंह और महागठबंधन उम्मीदवार तनवीर हसन से है।

खास बात यह है कि कन्हैया कुमार के पक्ष में बॉलीवुड हस्तियों के आने से यहां का मुकाबला काफी दिलचस्प हो गया है। कन्हैया के नामांकन में सबसे ज्यादा चर्चा जावेद अख्तर और शबाना आजमी के साथ अभिनेत्री स्वरा भास्कर के शामिल होने की आशंका जताई जा रही है। स्वरा इन दिनों बेगूसराय में ही कन्हैया कुमार के पक्ष में प्रचार भी कर रही हैं। साउथ से भी कन्हैया को सपोर्ट मिल सकता है। दक्षिण कलाकार प्रकाश राज के भी कन्हैया के नामांकन में पहुंचने की संभावना है। इसके अलावा कन्हैया को जिग्नेश मेवाणी, हार्दिक पटेल और शेहला राशिद का भी साथ मिल सकता है। हालांकि अभी तक इस बात की पूरी तरह से पुष्टी नहीं हो पाई है। लेकिन बताया जा रहा है कि वह अन्य प्रचार में भी शामिल हो सकते हैं।  गिरिराज सिंह और तनवीर हसन पहले ही अपना नामांकन दाखिल कर चुके हैं। भूमिहार बहुल बेगूसराय सीट पर इस बार मुकाबला त्रिकोणीय है।

अपने नामांकन के दौरान आने वाले समर्थकों के लिए कन्हैयार कुमार ने एक ट्वीट किया है। इस ट्वीट के जरिये उन्होंने अपने समर्थकों और शुभचिंतकों से नामांकन के दौरान शांत और संयम में रहने की अपील की है। आपको बता दें कि बेगूसराय में मुकाबला त्रिकोणीय है, क्योंकि कन्हैया कुमार का मुकाबला सिर्फ गिरिराज सिंह ही नहीं, बल्कि महागठबंधन के राजद उम्मीदवार डॉ तनवीर हसन से भी है। बता दें कि इस सीट पर चौथे चरण में 29 अप्रैल को मतदान होगा।

जातीय समीकरण – करीब 17 लाख मतदाताओं वाले इस सीट पर भूमिहार मतदाताओं की बहुलता रही है। बेगूसराय संसदीय क्षेत्र में करीब 4.75 लाख भूमिहार वोटरों की तादाद है  मुस्लिम मतदाताओं की संख्या करीब 2.5 लाख है। करीब 2 लाख कुशवाहा और कुर्मी वोटर हैं तो यादव  वोटरों की संख्या भी डेढ़ लाख के करीब है। कायस्थ और ब्राह्मण मतदाता भी निर्णायक भूमिका में है।  2004 से ही इस सीट पर एनडीए का कब्ज़ा है। 2004 के लोकसभा चुनाव में जेडीयू के राजीव रंजन सिंह ने बेगूसराय पर कब्ज़ा किया तो  2009 में जेडीयू के ही डॉक्‍टर मोनजीर हसन और 2014 में बीजेपी के भोला सिंह ने जीत हासिल की थी। 2004 और 2009 में जेडीयू एनडीए का हिस्सा थी लेकिन 2014 में जेडीयू और भाजपा ने अलग अलग चुनाव लड़ा था। इस बार फिर जेडीयू और भाजपा साथ हैं।

 

 

Related Articles