फिर चर्चा में कानपुर पुलिस! दबिश देने पहुंचे दरोगा साहब ने महिला के ऊपर चढ़कर…

कानपुर। यूपी की कानपुर पुलिस (Kanpur Police) अपने कारनामो को लेकर हमेशा चर्चा में बनी रही थी है। महिला सुरक्षा का दावा करने पुलिस अब महिलाओं के साथ दुर्व्यवहार करने में नहीं चूकती। ताजा मामला कानपुर देहात (Kanpur dehat) के थाना भोगनीपुर अंतर्गत का है। यहां के दुर्गदासपुर गांव में शनिवार को लूट के आरोपी को पकड़ने गई पुलिस व महिलाओं में बहस के बाद भिड़ंत हो गई। इस दौरान महिला और दरोगा में हाथापाई शुरू हो गई। इसकी तस्वीर भी सोशल मीडिया (Social media)  पर वायरल हो गई है। जिसमे दरोगा महेंद्र पटेल (Mahendra patel) एक महिला को जमीन में पटक पटक मारते हुए दिखाई दें रहे है, इस दौरान महिला निर्वस्त्र हो गई।

दरोगा व महिला का आरोप

दरोगा व महिला ने एक दूसरे पर आरोप मढ़ा है। दारोगा ने महिला पर अभद्रता व अन्य के साथ मिलकर हमलाकर एक आरोपी को छुड़ा के ले जाने का आरोप लगाया है तो वहीं महिला ने रुपये मांगने व बेटे को बेवजह परेशान करने के साथ गिराकर पीटने का आरोप लगाया है।

सुरजीत की खोज में थी पुलिस

दुर्गदासपुर गांव में बीते सात जून को वीरेंद्र सिंह के घर में लूट हुई थी और उसी गांव के ही रहने वाले सुरजीत सिंह उर्फ लबूदे व दो अन्य के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी। आरोपित सुरजीत की तलाश में पुलिस जुटी थी। एक युवक ने शनिवार को लूट के आरोपी की खबर पुखरायां चौकी इंचार्ज महेंद्र सिंह को जानकारी दी कि आरोपी सुरजीत गांव में ही है।

पकड़ने गए थे लुटेरा पकड़ लिया जुआरी

चौकी इंचार्ज पुलिस बल के साथ गांव पहुंचे और उन्हें आता देख वहां जुआ खेल रहे लोग भागने लगे तभी दरोगा महेंद्र ने वहां खड़े शिवम यादव को पकड़ लिया और जीप में बैठाने लगे। इसपर शिवम की मां व अन्य महिलाएं पुलिस से भिड़ गईं। इस दौरान एक महिला और दरोगा महेंद्र की हाथापाई शुरू हो गई तभी शिवम यादव पुलिस की गिरफ्त से छूटकर भाग गया। इस दौरान गांव के ही राजबाबू यादव ने पुलिस व महिलाओं को अलग किया।

महिला ने लगाया आरोप

एक महिला ने आरोप लगाया है कि चौकी इंचार्ज कई दिनों से रुपए की मांग कर रहा था और मांग पूरी न होने पर शिवम को बेवजह पकड़ कर ले जा रहे थे। जब विरोध किया तो महिला को जमीन में गिराकर मारापीटा व बेइज्जत किया।

दरोगा महेंद्र ने दी सफाई

उधर, पुखरायां चौकी इंचार्ज महेंद्र सिंह ने बताया कि 26 अप्रैल को पंचायत चुनाव के दौरान शिवम यादव गांव में अपने पक्ष के प्रत्याशी को वोट डालने के लिए ग्रामीण पर दबाव बना रहा था। शनिवार को दुर्गदासपुर गांव में लूट की घटना के वांछित को पकड़ने जा रहा थे तभी रास्ते में जुआ होता देख वहां खड़े शिवम को पकड़ लिया था। इस दौरान उसे छुड़ाने के लिए उसकी मां अनीता यादव व पत्नी आरती समेत अन्य महिलाओं ने पुलिस पर हमला कर दिया और शिवम को छुड़ा ले गईं। एक महिला वर्दी पकड़कर लटक गई जिससे नीचे गिर गया। आरोप बेबुनियाद है।

 

 

Related Articles