कानपुर विवि के वीसी की जांच पूरी, रिपोर्ट राज्यपाल के हवाले

06

लखनऊ। यूपी के राज्यपाल एवं कुलाधिपति राम नाईक को आज अवकाश प्राप्त न्यायमूर्ति वीसी गुप्ता ने चन्द्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय कानपुर के कुलपति प्रो. मुन्ना सिंह के खिलाफ की गई जांच की रिपोर्ट सौप दी है। राज्यपाल ने जांच रिपोर्ट की एक प्रति प्रो. मुन्ना सिंह को भेजते हुए उनसे छह जनवरी 2016 तक जवाब मांगा है। प्रो. मुन्ना सिंह पर कुलाधिपति के आदेशों की अवहेलना करने का आरोप है। राज्यपाल एवं कुलाधिपति ने जांच के लिए न्यायमूर्ति वीसी गुप्ता की अध्यक्षता में एकल सदस्यीय जांच समिति गठित की थी।

उल्लेखनीय है कि श्री नाईक ने एक मई 2015 को प्रो. मुन्ना सिंह को निलम्बित करते हुए लखनऊ विश्वविद्यालय के कुलपति कार्यालय से सम्बद्ध किया था जहा वेे 27 मई 2015 तक उपस्थित नहीं हुए थे। 28 मई 2015 को प्रो. मुन्ना सिंह द्वारा इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ पीठ योजित याचिका में पीठ ने कुलाधिपति के आदेशों के क्रियान्वयन को इस शर्त पर स्थगित कर दिया कि प्रो. मुन्ना सिंह को जांच के दौरान अवकाश पर रखा जाए। लखनऊ पीठ के इस आदेश के विरूद्ध कुलाधिपति कार्यालय ने उच्चतम न्यायालय में याचिका दायर की। जिसके परिणामस्वरूप 21 अगस्त 2015 को उच्चतम न्यायालय ने इलाहाबाद उच्च न्यायालय की लखनऊ पीठ के आदेश पर रोक लगाते हुए प्रो. मुन्ना सिंह को फिर से निलम्बित करने का आदेश पारित किया। निलम्बन के बाद प्रो. मुन्ना सिंह को सरदार वल्लभ भाई पटेल कृषि विश्वविद्यालय मेरठ से सम्बद्ध किया गया लेकिन प्रो. मुन्ना सिंह वहां भी उपस्थित नहीं हुए।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button