कर्नाटक भारी बारिश की वजह से  स्कूल-कॉलेज हुए बंद

बेंगलुरू: दक्षिण-पश्चिम मॉनसून के समय से पहले आ जाने से कर्नाटक के कोडगू और चिकमंगलुरू जिलों में सैंकड़ों स्कूल और कॉलेज मंगलवार को बंद हैं। चिकमंगलुरू के उपायुक्त कार्यालय के एक अधिकारी ने आईएएनएस को बताया, “तराई के इलाकों में पानी भरने से जिले के चार तालुकों (तहसीलों) में स्कूलों और कॉलेजों में एहतियातन छुट्टी घोषित कर दी गई।”

कर्नाटक‘भारत मौसम विज्ञान विभाग’ (आईएमडी) के बेंगलुरू केंद्र ने अपनी वेबसाइट पर बताया कि चिकमगलुरू जिले के मलनाड क्षेत्र के कुछ इलाकों में मंगलवार सुबह तक काफी तेज वर्षा (13 सेंटीमीटर) हुई।

चिकमगलुरू से निकलने वाली भद्रा नदी ऊपर से बह रही है और इसके तट पर बसे तराई के क्षेत्रों में बाढ़ आ गई है। कॉफी उपजाऊ जिला कोडगू में पिछले कुछ दिनों से भारी बारिश होने के कारण जिले के कई क्षेत्रों में स्कूल और कॉलेज बंद रहे।

कोडगू जिले के उपायुक्त कार्यालय के एक अधिकारी ने कहा, “जिले के तराई में स्थित तालुकों के शिक्षण संस्थानों में छुट्टी की घोषणा कर दी गई है। यद्यपि जिले के ज्यादातर हिस्से में औसत से भारी बारिश जारी है, जिला प्रशासन जरूरी कदम उठाने के लिए बराबर नजर बनाए हुए है।”

मंगलवार सुबह प्राप्त आईएमडी के आंकड़ों के अनुसार, कोडगू जिले के धार्मिक नगर भगमंडला में भारी बारिश (17 सेंटीमीटर) दर्ज की गई। तटीय जिलों उत्तर कन्नड़ और दक्षिणी कन्नड़ तथा भीतरी जिलों हासन और शिवमोगा में भी लगातार हो रही औसत से अधिक बारिश से सड़कों पर पानी बह रहा है और सामान्य जन-जीवन बुरी तरह प्रभावित हो गया है।

पिछले सप्ताह से जारी बारिश और तेज हवाओं ने पेड़ों को उखाड़ कर फेंक दिया और बिजली के तार टूटे पड़े हैं। दक्षिण-पश्चिम रेलवे की उपमहाप्रबंधक ई. विजया ने आईएएनएस को बताया, “भारी बारिश के कारण बेंगलुरू से उत्तर कन्नड़ के करवार जाने वाले रेलमार्ग को बदलकर केरल के पलक्कड़ से होते हुए कर दिया है।”

एक अधिकारी ने कहा, “जिलों में बस सेवा पर ज्यादातर स्थानों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा, लेकिन वे देरी से चल रही हैं।”

Related Articles