कर्नाटक सरकार ने रात्रि में कर्फ्यू लगाने का आदेश वापस लिया

उन्होंने लोगों से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए अनावश्यक यात्रा से बचने तथा कोरोना के सरकारी दिशानिर्देशों का पालन करने काे भी कहा।

बेंगलुरु: कर्नाटक में कोरोना वायरस के नये स्वरूप के प्रसार को रोकने के लिए गुरुवार रात 11 बजे से लागू होने वाले रात्रि कर्फ्यू को विभिन्न पक्षों की आलोचनाओं के बाद येदियुरप्पा सरकार को उसे वापस लेने की घोषणा करनी पड़ी।

मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने कहा कि रात्रि कर्फ्यू के लागू होने के छह घंटे पहले इसको वापस लेने की घोषणा करता हूं। उन्होंने कहा,“रात्रि कर्फ्यू की आवश्यकता नहीं है, लोगों के इस नजरिये को देखते हुए तथा मंत्रिमंडल के सहयोगियों और वरिष्ठ अधिकारियों से विचार-विमर्श के बाद इसे वापस लेने का निर्णय लिया गया है।” यह कर्फ्यू आज रात 11 बजे से शुक्रवार को सुबह पांच बजे तक लागू होनी थी। ”

येदियुरप्पा ने जारी बयान में लोगों से मास्क लगाकर और सामाजिक दूरी अपना कर अपनी सुरक्षा सुनिश्चित करने की अपील की है। उन्होंने लोगों से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए अनावश्यक यात्रा से बचने तथा कोरोना के सरकारी दिशानिर्देशों का पालन करने काे भी कहा। विपक्ष के नेता सिद्धारामैया ने कहा कि रात्रि कर्फ्यू को लागू करने का निर्णय ही हास्यास्पद था। उन्होंने कहा,“निजी वाहनों को छोड़ कर सरकार ने बसों, टैक्सियों और ऑटो को इजाजत दी थी। यह निर्णय पागल सरकार की ओर से उठाई गयी थी।”

यह भी पढ़े:

Related Articles