कोरोना काल के बाद फिर खुलेगा करतारपुर कॉरिडोर, भारतीय विदेश मंत्रालय ने दी प्रतिक्रिया

नई दिल्लीः कोरोना के केसों में इजाफा होने, लेकिन काफी महीनों के लॉकडाउन के बाद लोगों की जिंदगी पुराने ढर्रे पर लौट रही है। दुनिया के कई तीर्थस्थलों को भी श्रद्धालुओं के लिए खोला जा रहा है। इसी फेहरिस्त में एक नाम करतारपुर कॉरिडोर का भी शामिल होने जा रहा है।

हाल ही में पाकिस्तानी मीडिया ने जल्द करतारपुर कॉरिडोर खुलने की खबर दी है। जानकारी के मुताबिक कोरोना वायरस के बढ़ते केसों में थोड़ा सुधार आने के बाद सिख श्रद्धालुओं के लिए करतारपुर गलियारा खोल दिया जाएगा।

पाकिस्तानी मीडिया की इस सूचना के बाद भारतीय विदेश मंत्रालय ने भी इस पर अपनी प्रतिक्रया दर्ज की है।  विदेश मंत्रालय ने करतारपुर कॉरिडोर को खोलने के प्रस्ताव पर बात करते हुए कहा कि “हम गृह मंत्रालय और स्वास्थ्य एंव परिवार कल्याण मंत्रालय के सभी संबंधित अधिकारियों के साथ संपर्क में  हैं। करतारपुर कॉरिडोर को दोबारा खोलने का फैसला कोविड-19 प्रोटोकॉल के तहत ही लिया जाएगा।”

भारतीय विदेश मंत्रालय के अनुसार पिछले साल करतारपुर कॉरिडोर के खुलने और हस्ताक्षर करने वाले द्विपक्षीय समझौते के समय यह निर्णय लिया गया था कि दोनों पक्ष बुद्धा रवि चैनल पर एक पुल बनाने के साथ अपेक्षित बुनियादी ढांचा भी तैयार करेंगे।  ऐसे में एक साल बाद पाकिस्तान को अपनी तरफ से पुल निर्माण का काम करना चाहिए क्योंकि हमारी तरफ से पुल तैयार है।

वहीं विदेश मंत्रालय के अनुसार 27 अगस्त 2020 को भारत-पाकिस्तान की बैठक हुई थी, जिसमें ह मुदा उठाया गया था, लेकिन इस पर अभी तक पाकिस्तान की तरफ से कोई एक्शन नहीं लिया गया है।

Related Articles