कासगंज: सिपाही की मौत से सीएम योगी नाराज, रासुका लगाने का दिया आदेश

कासगंज: उत्तर प्रदेश में बिकरूकांड जैसी वारदात को कासगंज (Kasganj) में दोहराने की कोशिश की गई है। कासगंज (Kasganj) में शराब माफियाओं को पकड़ने गई पुलिस (Police) को बंधक बना लिया। सिढ़पुरा थाने के दरोगा और एक सिपाही को बंधक बना लिया। उनकी वर्दी उतार कर लाठी-डंडो व अन्य हथियारों से पीटा। इन दोनों को बुरी तरह से मार-मर कर घायल कर दिया और दोनों को लहूलुहान छोड़कर मौके से फरार हो गए। इस घटना की सूचना मिलते ही मौके पर सिढ़पुरा थाने सहित कई थानों की पुलिस (Police) फोर्स व आला अधिकारी मौके पर पहुंचे।

छानबीन में पुलिस टीम को एक दरोगा और अर्धनग्न अवस्था में सिपाही देवेंद्र खेत में लहूलुहान पड़े मिले। दोनों अलीगढ़ मेडिकल कॉलेज ले जाया गया जिसमे से सिपाही देवेंद्र की मौत हो गई है। इस घटना के बाद से इलाके में हड़कंप मच गया है। इस मामले की जानकारी मिलते ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संज्ञान में लेते हुए वारदात को अंजाम देने वालो के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। इसके अलावा सोएम योगी ने घायल पुलिसकर्मी का समुचित उपचार कराने की बात भी कही है।

ये भी पढ़ें : आखिर क्यों बिल्ली का रास्ता काटना समझा जाता है अशुभ, जानें इसकी वजह 

मीडिया कर्मियों से मुखातिब हुए जिलाधिकारी चंद्र प्रकाश सिंह ने बताया कि इस पूरे प्रकरण पर सीएम योगी नजर बनाए हुए है। उन्होंने मृतक सिपाही देवेंद्र के परिजनों को 50 लाख की आर्थिक सहायता एवं एक परिजन को नौकरी देने का एलान किया है। मुख्यमंत्री योगी खुद इस घटना की मॉनिटरिंग कर रहे हैं।उन्होंने अपराधियों पर कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। सीएम योगी ने आरोपी पर NSA लगाने का आदेश दिया है।

ये भी पढ़ें : बिकरूकांड पार्ट-2 से मचा हड़कंप, कासगंज में पुलिसकर्मियों पर हमला

आगरा के एडीजी ने बताया

घटना स्थल पर पहुंचे आगरा के एडीजी अजय आनंद ने बताया कि पुलिस टीम जांच करने में जुटी है। अभी तक पता चला है कि इस मामले में शराब माफिया मोती का नाम सामने आ रहा है इसके साथ घटना के समय दर्जनों साथी शामिल थे। पुलिस की 6 टीमें गठित कर हमला करने वाले आरोपियों की तलाश की जा रही है। पूरे गांव को पुलिस और पीएसी ने घेर रखा है।

 

 

 

 

 

Related Articles

Back to top button