विकास के लिये प्रेरणा का श्रोत बनी काशी: योगी आदित्यनाथ

योगी ने वाराणसी में कानून व्यवस्था और विकास योजनाओं की समीक्षा करते हुये कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की मंशा के अनुरूप वाराणसी में विकास के कीर्तिमान स्थापित हो रहे हैं.

वाराणसी: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को कहा कि संस्कृति, धर्म, अध्यात्म एवं शिक्षा की नगरी काशी अब विकास के लिए भी प्रेरणादायी बन रही है.

योगी ने वाराणसी में कानून व्यवस्था और विकास योजनाओं की समीक्षा करते हुये कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की मंशा के अनुरूप वाराणसी में विकास के कीर्तिमान स्थापित हो रहे हैं. वाराणसी में विकास की 9259.7 करोड़ रुपए की 136 प्रमुख परियोजनाएं निर्माणाधीन हैं. श्री काशी विश्वनाथ काॅरीडोर अद्भुत एवं अकल्पनीय होगा. कोरोना काल में विषम परिस्थिति में वाराणसी में व्यापक सेवा कार्य, चिकित्सा व्यवस्थाएं, सामाजिक सहायता के कार्य हुए, जिसका अच्छा सन्देश गया. कोरोना की विभीषिका के बाद वाराणसी में पुनः पर्यटन, व्यापारिक व औद्योगिक गतिविधियां तेजी से बढ़ने लगी हैं.

मुख्यमंत्री ने किया परिक्रमा मार्ग का जिक्र

उन्होने कहा कि पंचकोसी परिक्रमा मार्ग समेत सभी धर्म स्थलों, धर्मशालाओं के सुदृढ़ीकरण एवं पुनरुद्धार की कार्यवाही की जाए, ताकि श्रद्धालुओं को सुविधा हो और वे काशी के विकास से परिचित हाें. वाराणसी में बड़े पैमाने पर आरओबी व पुल बन रहे हैं. इनमें सुरक्षा मानकों का पूरा ध्यान रखा जाए. पीडब्ल्यूडी, जल निगम, विद्युत आदि सभी विभाग गुणवत्ता, समयबद्धता व पारदर्शिता के साथ कार्य करें.

प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के तहत कही कुछ बातें

योगी ने कहा कि वाराणसी का प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना में देश में प्रथम स्थान पर होना गौरव की बात है. उन्होने कहा कि कोविड नियंत्रण के सम्बन्ध में जिले में अच्छा कार्य हुआ है. रिकवरी दर को और बेहतर किया जाए. जो गांव नगर निगम में शामिल हुए हैं, उनके लिए नगर निगम में धनराशि की व्यवस्था की जा रही है. इससे नगर निगम द्वारा वहां बुनियादी सुविधाएं विकसित की जाएंगी.

मण्डलायुक्त एवं जिलाधिकारी ने विकास एवं निर्माणाधीन परियोजनाओं के साथ-साथ कोरोना चिकित्सा व्यवस्था के सम्बन्ध में अवगत कराया. उन्होंने बताया कि वाराणसी का कोरोना संक्रमित का रिकवरी रेट 91.4 फीसदी है.

कानून व्यवस्था की समीक्षा

कानून व्यवस्था की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि अपराधियों व माफियाओं पर प्रभावी कार्रवाई हो. काशी रेंज की सीमा बिहार व अन्य राज्यों से जुड़ती है, इसलिए विशेष सतर्कता बरतें. गांवों में विवादों को बढ़ने न दिया जाए. अपराधी तत्वों के असलहे निरस्त करने की कार्यवाही हो. अपराधी व माफियाओं पर प्रभावी कार्रवाई जारी रहे, इसमें किसी भी प्रकार की शिथिलता न बरती जाए. वाराणसी में गैंगस्टर एक्ट के तहत अच्छी कार्रवाई हुई है, इसे और तेज किया जाए. माफियाओं की अवैध सम्पत्ति के जब्तीकरण व ध्वस्तीकरण की कार्यवाही जारी रहे. इसमें आने वाला खर्चा सम्बन्धित व्यक्ति से वसूला जाए.

महिलाओं व धर्म गुरुओं पर दुव्र्यवहार का यदि कोई प्रकरण संज्ञान में आता है, तो तत्काल प्रभावी कार्रवाई करें. सोशल मीडिया पर नजर रखी जाए. अफवाह या उकसाने वाली खबरों पर कार्यवाही हो.

यह भी पढ़े: बिहार : वोट डालने गए पत्रकार के घर में हुई 20 लाख की चोरी

Related Articles

Back to top button