1931 के शहीदों की स्मृति में कश्मीर बंद

श्रीगनर| कश्मीरियों ने शुक्रवार को बंद के जरिए निरंकुश शासन के खिलाफ लड़ने वाले 1931 के शहीदों को याद किया। अधिकारियों ने पुराने शहर के नकाशबंद साहेब में शहीदों की कब्रगाह के पास सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं, जहां लोगों ने डोगरा शासन के खिलाफ लड़ाई लड़ी थी और सरकारी बलों के हाथों 13 जुलाई, 1931 को मारे गए थे। इन शहीदों को यहीं दफनाया गया था।


जम्मू एवं कश्मीर में 13 जुलाई को सरकारी अवकाश रहता है। सभी दुकानें और व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद हैं, जबकि घाटी में सड़कों से बसें नदारद हैं।

अलगाववादियों ने भी इस अवसर पर बंद का आह्वान कर रखा है, जिसके मद्देनजर सैयद अली शाह गिलानी और मिरवाइज उमर फारूक को घर में नजरबंद कर दिया गया है और यासीन मलिक को हिरासत में रखा गया है।

Related Articles