Kausal Kisor ने उठाई आवाज, कहा- जान बचाना जरूरी है, चुनाव कराना नहीं

लखनऊ: कोरोना के मामले उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ केंद्र बना हुआ है। इन दिनों बढ़ते कोरोना महामारी से हाहाकार मचा हुआ है। मंगलवार को तो कोरोना ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए। यूपी के सभी जिलों के अलावा एक अकेला शहर लखनऊ है जहां 24 घंटे में सिर्फ 5382 नए केस आये है। इसी को ध्यान में रखते हुए योगी सरकार के मंत्री व मोहनलाल गंज के सांसद भी आवाज उठाने लगे हैं।

राजधानी लखनऊ के मोहनलालगंज से बीजेपी सांसद कौशल किशोर (Kausal Kisor) ने राज्य निर्वाचन आयोग से इस कोरोना महामारी के बीच पंचायत चुनाव को एक महीना आगे टालने की अपील की है।

कौशल किशोर ने किया ट्वीट

सांसद कौशल किशोर (Kausal Kisor) ने मंगलवार को ट्वीट करके राज्य निर्वाचन आयोग से यह अपील की। उन्होंने ट्वीट में लिखा है कि लखनऊ में कोरोना कंट्रोल से बाहर हो चुका है। कई हजार परिवार इस महामारी की चपेट में आकर बुरी तरह से बर्बाद हो रहे हैं। श्मशान घाटों पर लाशों के ढेर लगे हुए हैं। ऐसे में चुनाव कराना जरूरी नहीं है बल्कि लोगों की जान बचाना जरूरी है। इसके आगे उन्होंने कहा है कि इसलिए निर्वाचन आयोग को तत्काल संज्ञान में लेते हुए पंचायत चुनाव की निर्धारित तिथि को एक महीना आगे बढ़ाना चाहिए। जान बचाना जरूरी है, चुनाव कराना जरूरी नहीं है।

ये भी पढ़ें: Sputnik V :अब देश खुद तैयार करेगा वैक्सीन की 85 करोड़ डोज़ेज़

मंत्री ब्रजेश पाठक ने भी उठाए थे सवाल

आपको बता दें कि इससे पहले योगी सरकार में मंत्री ब्रजेश पाठक ने भी लखनऊ में खराब स्वास्थ्य सुविधाओं को लेकर स्वास्थ्य सचिव को पत्र लिखा था। लखनऊ की समस्याएं गिनाते हुए ब्रजेश पाठक ने लिखा था कि अस्पतालों में बेड नहीं, ऐंबुलेंस समय पर नहीं मिल रही है और मरीज को इलाज भी नहीं मिल रहा है। इसके अलावा  इतिहासविद् योगेश प्रवीण को भी ऐंबुलेंस न मिलने का जिक्र करते हुए लिखा कि उन्होंने खुद सीएमओ से बात कर ऐंबुलेंस मुहैया करवाने का अनुरोध किया, लेकिन घंटों तक उन्हें ऐंबुलेंस नहीं मिली। मंत्री ने बताया कि समय से चिकित्सा सुविधा न मिलने की वजह से योगेश प्रवीण का निधन हो गया।

ये भी पढ़ें: Samsung Galaxy M 42, 5G की इनफार्मेशन हुई लीक, खास फीचर्स की एक झलक

Related Articles

Back to top button