कई बार कॉल करने के बाद भी नहीं पहुंची एम्बुलेंस, बेटे को ठेले पर लादकर अस्पताल पहुंचा पिता

0

लखनऊ। यूपी सरकार भले ही स्वास्थ्य के लाखों दावे कर ले लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही है। जरुरत पड़ने पर लोगों को समुचित स्वास्थ्य नहीं उपलब्ध हो पाती जिसे कई बार लोगों को अपनी जान तक गवानी जाती है। ताजा घटना यूपी के कौशाम्बी जिले का है यहां एम्बुलेंस नहीं आने पार एक बुजुर्ग पिता ने अपने बीमार बेटे को ठेले पर लादकर अस्पताल पहुंचाया।

जी हां, यही हकीकत है 108 की। कई बार कॉल करने के बावजूद एम्बुलेंस मरीज को अस्पताल ले जाने के लिए नहीं पहुंची। जब बेटे की हालात बिगड़ने लगी तब बुजुर्ग पिता रामअवतार को मजबूरी में अपने बेटे को ठेले पर लादना पड़ा। पिता ठेले से ही बेटे को तीन किलोमीटर दूर अस्पताल लेकर पहुंचे।

मामला मंझनपुर कोतवाली के गांधी नगर कस्बे का है। मिली जानकारी के मुताबिक, यहां रहने वाले रामअवतार का बेटा उमा शंकर टीबी का मरीज है। शुक्रवार को एक दम से उसकी तबियत ख़राब हो गयी। इसके बाद घरवालों ने तुरंत 108 पर फोन किया। तत्काल एम्बुलेंस की मांग की। लेकिन काफी इंतजार के बाद भी एम्बुलेंस नहीं आई तो दोबारा फोन किया।

उसके बाद भी एम्बुलेंस नहीं आई। कई बार बोलने पर भी किसी ने पीड़ित परिवार की सुध नहीं ली। उसके बाद मजबूर हो कर पिता रामअवतार को बेटे को ठेले पर लादना पड़ा। तीन किलोमीटर दूरी तय कर जिला अस्पताल पहुंचा। इलाज के बाद अस्पताल में भी उसे एम्बुलेंस नहीं मिली। बुजुर्ग पिता एकबार फिर बेटे को ठेले पर ही लादकर घर पहुंचा।

इस घटना के बाद स्वास्थ्य विभाग के तमाम दावों की पोल खुल जाती है। सरकार के सभी योजनाओं के बाद भी आम जन को सुविधाएं मुहैया नहीं हो पाती। वहीं इस मामले में जिम्मेदार अफसर कुछ बोलने को तैयार नहीं।

loading...
शेयर करें