कौशांबी: बड़े पैमाने पर तैयार हो रहा मौत का सामान

0

explosive

कौशांबी। जिले के यमुना नदी के तराई इलाके में इन दिनों कुछ ऐसे सामान तैयार हो रहे हैं जिससे जिला ही नहीं बल्कि पूरा प्रदेश तबाह हो सकता है। जिले में बड़े स्तर पर हथियार तैयार किए जा रहे हैं। जो कि कहीं न कहीं खतरे को बढ़ावा देने में कारगार साबित हो सकते हैं। जिसके बारे में जानकारी इकट्ठा करने में जिले की लोकल इंटेलिजेंस भी पूरी तरह फेल बतायी जा रही है।

फैक्ट्री में बन रहे अवैध हथियार
विश्वस्त सूत्रों की माने तो पिपरी कोतवाली इलाके के यमुना के तराई में बांदा के एक खूंखार अपराधी द्वारा फैक्ट्री का संचालन किया गया। इस फैक्ट्री में पीतल युक्त हथियार तैयार किये जा रहे है। यहां तीन तरह के घातक हथियार तैयार किए जा रहे हैं।पीतल युक्त हथियार 315 बोर,12 बोर का तमंचा कहते है और देशी रायफल भी तैयार की जाती है।

दूसरे जिले का अपराधी चल रहा फैक्ट्री

प्रतापगढ़ जिला जिसे प्रदेश में अपराध गढ़ के रूप में जाना जाने लगा है। सूत्रों के मुताबिक प्रतापगढ़ जिले का एक शातिर कारीगर इस काम को बखूबी कर रहा है। खूबसूरती व मजबूती पर बिकने वाले इन असलहो के सौदागर भी बहुत है। जिसके खरीदने के बाद जिले में चोरी लूट छिनैती जैसे संगीन वारदातों को अंजाम देते है।

गृह मंत्रालय को सौंपी रिपोर्ट तो मचा हड़कम्प
जिले में बढ़ते अपराध पर जब भारत सरकार की अति आवश्यक गोपनीय एजेंसी ने जब अपनी रिपोर्ट गृह मंत्रालय को सौपी तो महकमे में हड़कम्पि मच गया। जिस मामले में इलाहबाद की एक स्पेशल क्राइम टीम ने तराई इलाके के कई स्थानों पर सर्च अभियान चलाया लेकिन सफलता नही मिली।

loading...
शेयर करें