हिमालय की गोद में विराजमान Kedarnath धाम के कपाट खुले, देखें यह अलौकिक Video

उत्तराखंड में विश्व प्रसिद्ध 11वें ज्योर्तिलिंग केदारनाथ धाम के कपाट पूरे विधि विधान और मंत्रोचारण के साथ खोल आज सुबह 5 बजे खोल दिए गए है

देहरादून: उत्तराखंड (Uttarakhand) में विश्व प्रसिद्ध 11वें ज्योर्तिलिंग केदारनाथ (Kedarnath) धाम के कपाट पूरे विधि विधान और मंत्रोचारण के साथ खोल आज सुबह 5 बजे खोल दिए गए है। मंदिर में कपाट खोलने कि प्रक्रिया सुबह 3 बजे से ही शुरू हो गई थी। मंदिर के कपाट खुलने के पश्चात रावल भीमा शंकर लिंगम और मुख्य पुजारी बाघेश लिंगम ने स्वयंभू शिवलिंग को समाधि से जागृत किया तथा निर्वाण दर्शनों के पश्चात श्रृंगार तथा रूद्राभिषेक पूजाएं की गयी। इस दौरान मंदिर को 11 क्विंटल फूलों सें सजाया गया है।

मेष लग्न के शुभ संयोग

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि, विश्व प्रसिद्ध ग्यारहवें ज्योर्तिलिंग भगवान केदारनाथ धाम के कपाट आज सोमवार को प्रातः 5 बजे विधि-विधान से पूजा-अर्चना और अनुष्ठान के बाद खोल दिए गए। मेष लग्न के शुभ संयोग पर मंदिर का कपाटोद्घाटन किया गया। मैं बाबा केदारनाथ से सभी को निरोगी रखने की प्रार्थना करता हूं।

केदारनाथ धाम में भी प्रथम रूद्राभिषेक पूजा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से की गयी तथा जनकल्याण की कामना की गयी। कोरोना महामारी को देखते हुए चारधाम यात्रा अस्थायी तौर पर स्थगित है धामों में केवल पूजापाठ संपन्न हो रही है यात्रियों को आने की अनुमति नहीं है। केदारनाथ धाम के कपाट खुलते वक्त केवल कुछ चुनिंदा लोग ही मौजूद रहे।

Chardham Yatra : Kedarnath temple opening tomorrow all preparations are  done - केदारनाथ धाम पहुंची बाबा केदार की उत्सव डोली, कल खुलेंगे मंदिर के  कपाट

हिमालय पर्वत की गोद में केदारनाथ

केदारनाथ धाम उत्तराखंड राज्य के रूद्रप्रयाग जिले में स्थित है। उत्तराखंड में हिमालय पर्वत की गोद में केदारनाथ मंदिर 12 ज्योतिर्लिंग में सम्मिलित होने के साथ चार धाम और पंच केदार में से भी एक है। यहां की प्रतिकूल जलवायु के कारण यह मंदिर अप्रैल से नवंबर माह के मध्‍य ही दर्शन के लिए खुलता है। पत्‍थरों से बने कत्यूरी शैली से बने इस मन्दिर के बारे में कहा जाता है कि इसका निर्माण पाण्डव वंश के जनमेजय ने कराया था। यहां स्थित स्वयम्भू शिवलिंग अति प्राचीन है।

यह भी पढ़ेDRDO की नई एंटी कोविड दवा 2DG की पहली खेप लॉन्च, जानें मरीजों पर कैसे काम करेगी?

Related Articles