खांसी-जुकाम में रखें खान-पान का खासा ध्यान, वरना खतरे में पड़ जाएगी आपकी जान

0

मौसम में बदलाव के समय सावधानी न बरतने के कारण अक्सर लोगों की तबेत खराब हो जाती है। अगर मौसम बारिश का हो तो बीमारी होने और फैलने का खतरा ज्यादा बढ़ जाता है। इसीलिए हर बदलते मौसम में हमें सावधानी बरतने की आवश्यकता है। इन दिनों बारिश के मौसम में खासी, जुकाम, बुखार जैसी बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है सिलिये इसका उपयुक्त उपाय व परहेज करना बहुत जरूरी है वरना यह बीमारी बढ़ सकती हौर सेहत काफी बिगड़ सकती है।

खांसी-जुकाम में रखें खान-पान का खासा ध्यान, वरना खतरे में पड़ जाएगी आपकी जान

इन दिनों की बीमारियों से लड़ने के लिए हमे खान-पान का खासा ध्यान रखना होगा, और यह बहुत जरूरी है कि ये मामूली बीमारियां होने पर आपको क्या नहीं करना चाहिए।

जुकाम

शरीर बेहद असरदार होता है जुकाम। इससे व्यक्ति को थकान महसूस होती है। ऐसे में जुकाम होने पर कोशिश करें कि मीठी चीजें न खाएं। मीठा खाने शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होती है और कई दिनों तक जुकाम ठीक नहीं होता।

खांसी

अगर किसी को बलगम वाली खांसी है तो उस व्यक्ति को दूध और डेयरी प्रोडक्ट्स खाने से बचना चाहिए। इनको खाने से बलगम के मरीजों को ज्यादा दिक्कत हो सकती है।

दस्त

दस्त होने पर संतरा, नींबू जैसे खट्टे फल नहीं खाने चाहिए। खट्टे फल एसीडिक होते हैं, जिससे पेट की समस्या और ज्यादा बढ़ सकती है।

बुखार

बुखार भी एक मामूली बीमारी है, लेकिन लापरवाही के कारण मामूली बुखार में भी लोगों की जान चली जाती है। बुखार होने पर व्यक्ति को जरा सा भी शराब का सेवन नहीं करना चाहिए।

ऐसा इसलिए क्योंकि एल्कोहल लेने से शरीर में पानी की कमी होती है। साथ ही रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी कमजोर करता है। इससे तबीयत ज्यादा खराब हो सकती है। हमे अपने सेहत का खासा ध्यान रखना चाहिए ताकि हम बीमरिओ से बच सकें एवं उभर सकें।

loading...
शेयर करें