मौनी अमावस्या के दिन इन बातों का रखें ध्यान, पूजा करने का देखें शुभ समय

लखनऊ: इस माघ के महीने मे आने वाली अमावस्या को मौनी अमावस्या (Mauni Amavasya) और माघ अमावस्या भी कहते हैं, शास्त्रों में मौनी अमावस्या का बड़ा मह्त्व बताया गया है। बता दें कि इस साल ये अमावस्या 11 फरवरी 2021 को पड़ रही है। कहते हैं कि इस माघ मास में पवित्र नदियों से स्नान का बड़ा महत्व है और शुभ भी माना जाता है। लेकिन यही स्नान मौनी अमावस्या (Mauni Amavasya) के दिन करने से इसका पुण्य कहीं अधिक प्राप्त होता है। इस दिन पीपल के वृक्ष और भगवान विष्णु की पूजन भी बहुत शुभ मानी जाता है।

बता दें कि ग्रहों का महासंयोग इस वर्ष ग्रहों का विशेष संयोग बन रहा है। मौनी अमावस्या के दिन इस दिन श्रावण नक्षत्र में चंद्र और मकर राशि मे छह ग्रहों की चाल से महासंयोग बन रहा है। इस दिन गंगा जी के पवित्र जल से स्नान शुभ माना जाता है। ये स्नान आप घर पर भी कर सकते हैं।

माना जाता है इस दिन उपवास का भी बड़ा महत्व है, अगर रखना चाहें तो सुबह या फिर शाम को स्नान करने के पहले संकल्प लें, फिर जल को माथे से लगा कर स्नान करें। साफ कपड़े पहन कर जल मे काले तिल डाल कर सूर्य को अर्पण करे। श्रद्धानुसार चीज़ समान दान करें।

जानिए शुभ मुहुर्त:

मौनी अमावस्या का मुहुर्त 10 फरवरी 2021 को 01 बजकर 10 मिनट से 11 फरवरी 2021 की रात्रि 12 बजकर 27 मिनट तक रहेगा। इस दिन अपने क्रोध पर नियंत्रण रखे। किसी से लड़े झगड़े नहीं, किसी को अपशब्द ना कहें अपने मुख से मन मे ईश्वर का जाप करने से कई गुना ज्यादा लाभ मिल सकेगा।

यह भी पढ़ें: आचार्य स्वामी विवेकानन्द: आज के राशिफल में छुपे है कई राज, इन राशि को मिलेगा लाभ

Related Articles

Back to top button