परीक्षा पे चर्चा कार्यक्रम पर तंज़ कसते हुए राहुल गाँधी ने कहा, ‘खर्चा पे चर्चा’ करें मोदी

मोदी सरकार ने 700 रुपये डीएपी खाद बढ़ाया जिससे 1200 का 50 किलो का डीएपी 1900 रुपये के पार चला गया। प्रधानमंत्री मोदी जी पहले ही खेती की लागत 15,000 रुपये प्रति हेक्टेयर बढ़ा चुके हैं।

नई दिल्ली: कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ( Former President Rahul Gandhi ) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( Prime Minister Narendra Modi ) की छात्रों के लिए ,‘परीक्षा पे चर्चा’ कार्यक्रम पर तंज़ कसते हुए आज कहा कि आसमान छूते ईंधन के दाम के बीच गाड़ी में तेल भरना भी किसी परिक्षा से कम नहीं है और इसलिए प्रधानमंत्री को आम जनता की ढीली होती जेब को देखते हुए ‘खर्चा पे चर्चा’ करनी चाहिए।

Live: थोड़ी देर में 'परीक्षा पे चर्चा' करेंगे पीएम मोदी, बोर्ड एग्जाम देने  वाले स्टूडेंट्स से होगी बातचीत - pariksha pe charcha 2021 PM Narendra Modi  pariksha pe charcha ...

राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, “केंद्र सरकार की टैक्स वसूली के कारण गाड़ी में तेल भराना किसी इम्तहान से कम नहीं, फिर प्रधानमंत्री इस पर चर्चा क्यूँ नहीं करते। खर्चा पर भी हो चर्चा।” कांग्रेस संचार विभाग ( Congress communication department ) के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला ने भी महंगाई को लेकर सरकार पर हमला किया और कहा, “73 साल में सबसे महँगी और ज़ालिम सरकार, हर रोज़ किसान पर करती है नया वार।

 

राहुल गाँधी ने आगे कहा, जो कभी नहीं हुआ, इस सरकार ने वो जुल्म कर दिखाया है। मोदी सरकार ने 700 रुपये डीएपी खाद बढ़ाया जिससे 1200 का 50 किलो का डीएपी 1900 रुपये के पार चला गया। प्रधानमंत्री मोदी जी पहले ही खेती की लागत 15,000 रुपये प्रति हेक्टेयर बढ़ा चुके हैं। उन्होंने तंज़ कस्ते हुए कहा सब याद रखा जाएगा।

यह भी पढ़े: रिलीज होने जा रही Abhishek Bachchan की धमाकेदार फिल्म ‘The Big Bull’, जानिए कब और कहां देख सकते हैं इसे

Related Articles