Kejrival ने केंद्र सरकार से बोर्ड परीक्षा रद्द करने को कहा, दिए खास सुझाव

करीब 1 लाख शिक्षक इसका हिस्सा होंगे। ये कोरोना के बड़े पैमाने पर फैलने वाले प्रमुख आकर्षण के केंद्र बन सकते हैं। बच्चों का जीवन और स्वास्थ्य हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है। मैं सीबीएसई परीक्षा रद्द करने के लिए केंद्र से अनुरोध करता हूं। 

नई दिल्ली: देश में बढ़ते कोरोना संक्रमण से हर तरफ अफरा-तफरा फैली हुई है। देश के कई राज्यों में हालात बद से बदतर होते जा रहे है। इसी को देखते हुए कई राज्यों में लॉकडाउन और नैट कर्फ्यू के कड़े प्रतिबंध लगा दिए गए है। स्वास्थ्य मंत्रालय ( Ministry of Health ) की तरफ से मंगलवार सुबह जारी आंकड़ों के मुताबिक देश में बीते 24 घंटे में कोरोना के 1,61,736 नए मामले दर्ज हुए हैं।  ऐसा लगातार तीसरा दिन है, जब देश में एक दिन में डेढ़ लाख से ज्यादा मामले सामने आए हैं। बीते 24 घंटों में 879 मौतें हुई हैं।

जब देश में कोरोना का कहर अपने पीक पर है तो बोर्ड परीक्षाओं को लेकर भी सवाल खड़े हो रहे है। परीक्षा को लेकर स्टूडेंस और उनके माता पिता बोर्ड परीक्षा के आयोजन को लेकर चिंता जता चुके है। इस बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल केंद्र सरकार से CBSE की परीक्षा रद्द करने की मांग की है। उन्होंने केंद्र सरकार से अनुरोध करते हुए कहा, “दिल्ली में 6 लाख बच्चे CBSE की परीक्षा लिखने जा रहे हैं। करीब 1 लाख शिक्षक इसका हिस्सा होंगे। ये कोरोना के बड़े पैमाने पर फैलने वाले प्रमुख आकर्षण के केंद्र बन सकते हैं। बच्चों का जीवन और स्वास्थ्य हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है। मैं सीबीएसई परीक्षा रद्द करने के लिए केंद्र से अनुरोध करता हूं।”

केजरीवाल ने दिए खास सुझाव

केजरीवाल ने सरकार को खास सुझाव देते हुए कहा है की परीक्षा को लेकर कुछ विकल्पों के बारे में सोचा जा सकता है। जिससे कि बच्चो का साल भी ख़राब न हो और कोरोना महामृ से भी बचा जा सके। उन्होंने कहा इस बार ऑनलाइन पद्धति या आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर बच्चों को प्रमोट किया जा सकता है। बतादें ये परीक्षाएं 10वीं और 12वीं की बोर्ड 4 मई से शुरू होंगी और 10 जून तक चलेंगी।

यह भी पढ़े: Jallianwala Bagh : निहत्थे मासूमों का हत्याकांड, अंग्रेजी प्रशासन की क्रूरता की दास्तां सुनाता है यह दिन

Related Articles

Back to top button