केजरीवाल को हाईकोर्ट की फटकार, पूछा- धरने की इजाजत किसने दी

नई दिल्ली। दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल के धरने को लेकर हाई कोर्ट सख्त हो गया है। कोर्ट ने पूछा है कि आखिर उन्हें धरने की इजाजत किसने दी। कोर्ट ने कहा कि एलजी आवास पर धरना देने के लिए क्या उन्होंने एलजी से इजाजत ली थी।

इससे पहले दिल्ली में भारतीय प्रशासनिक अधिकारियों (आईएएस) की अघोषित हड़ताल के कारण सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) और उपराज्यपाल के बीच छिड़ी जंग के बीच रविवार को आप ने राजधानी में बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन किया। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को उपराज्यपाल के आवास पर धरना देते हुए रविवार को एक सप्ताह हो गया। उपराज्यपाल ने अभी तक मुख्यमंत्री से बात करना जरूरी नहीं समझा है।

आप सदस्यों ने मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) कार्यकर्ताओं के साथ हजारों की संख्या में रविवार शाम चार बजे नई दिल्ली के मंडी हाउस मेट्रो स्टेशन से प्रधानमंत्री आवास की तरफ पार्टी के झंडे और तिरंगे लहराते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कथित ‘तानाशाही व्यवहार’ के विरोध में नारे लगाते हुए जुलूस शुरू निकाला, लेकिन पार्लियामेंट स्ट्रीट पुलिस स्टेशन पर पुलिस ने उन्हें रोक दिया। पुलिस ने बल प्रयोग कर जुलूस को जंतर मंतर की ओर मोड़ दिया।

विरोध प्रदर्शन उपराज्यपाल अनिल बैजल के योजनाओं की फइलें रोकने को लेकर विवाद, नौकरशाहों के असहयोग और दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने जैसे कई मुद्दों को लेकर किया गया। दिल्ली सरकार के अनुसार, आईएएस अधिकारी कई महीनों से काम नहीं कर रहे हैं, जिस कारण अव्यवस्था फैल रही है। दिल्ली में ही बैठी केंद्र सरकार सब देख रही है और नौकरशाहों की पीठ थपथपा रही है।

Related Articles