केजरीवाल को लगा अब तक का सबसे बड़ा झटका, पूरा सूपड़ा हुआ साफ

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी के प्रमुख अरविंद केजरीवाल को पंजाब में जोरदार झटका लगा है। यहां एक साथ 16 आप नेताओं ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। बताया जा रहा है कि इन नेताओं ने ये कदम पार्टी के सह संयोजक डॉक्टर बलबीर सिंह के खिलाफ विद्रोह करते हुए उठाया। सभी नेताओं ने संयुक्त रूप से ये इस्तीफा केजरीवाल और पार्टी के पंजाब प्रभारी मनीष सिसोदिया को भेजा।

भाजपा के एक वार से कांग्रेसियों की बोलती बंद, मोदी के…

अरविंद केजरीवाल

बता दें कि कुछ दिनों पहले बलबीर सिंह ने पटियाला (ग्रामीण) अध्यक्ष जियान सिंह मुनगो को उनके पद से हटाया था।

मल्होत्रा के मुताबिक बलबीर के इस कदम की वजह से पार्टी में नाराजगी पैदा हुई। मल्होत्रा ने कहा, ‘आप को बचाया जाना चाहिए और कार्यकर्ताओं की बातें सुननी चाहिए। बलबीर जैसे लोगों को पार्टी से हटाना चाहिए, ताकि पार्टी पंजाब में मजबूत हो सके।’

संघ और बीजेपी के इशारों पर काम कर रहा मुस्लिम पर्सनल…

वहीं इस मामले में बलबीर सिंह ने कहा है कि उन्हें इसके बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है। आपको बता दें कि अभी तक यह स्पष्ट नहीं हुआ है कि इन नेताओं का इस्तीफा मंजूर किया गया है या नहीं।

खबरों के मुताबिक़ इस इस्तीफे की एक कॉपी पंजाब में पार्टी के अध्यक्ष भगवंत मान और पंजाब विधानसभा में विपक्ष के नेता सुखपाल सिंह खैरा को भी भेजी गई।

इस्तीफा देने वालों में पंजाब आप के उपाध्यक्ष करनवीर सिंह तिवाना, जनरल सेक्रेटरीज प्रदीप मल्होत्रा और मंजीत सिंह सिद्धू शामिल हैं। इसके साथ ही जिलों के अध्यक्ष और हलका इनचार्ज भी इसमें शामिल हैं।

नेताओं ने बलबीर सिंह के ऊपर पार्टी को अपंग करने का आरोप लगाया है। प्रदीप मल्होत्रा का कहना है कि बलबीर सिंह का रवैया तानाशाही है, जिसकी वजह से पार्टी कमजोर हो रही है। उन्होंने कहा, ‘डॉक्टर बलबीर सिंह के तानाशाही रवैये के कारण पार्टी कमजोर होती जा रही है। जिस तरह से वह विपक्ष के हाथों की कठपुतली की तरह काम कर रहे हैं, जिस तरह से उन्होंने वालन्टिर्स की भावनाओं को ठेस पहुंचाया और अपनी मनमर्जी से निःस्वार्थ कार्यकर्ताओं को उनके पदों से हटाया, हम इन सारी बातों से काफी आहत हुए, इसलिए हमने इस्तीफा देने का फैसला किया।

Related Articles