केजरीवाल की पुत्री बोलीं क्या जनता को सुख सुविधाएँ देना आतंकबाद है..

नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की पुत्री पिछले पांच महीनों से दफ्तर से छुट्टी लेकर अपने पिता के लिए चुनाव प्रचार कर रही है| अरविन्द केजरीवाल की पुत्री हर्षिता केजरीवाल ने दिल्ली राजनीति पर खुलकर बात की है। उन्होंने वर्तमान समय में हो रही राजनीति पर अपनी बेबाक राय दी है| इसके साथ ही अपने पिता को आतंकी कहे जाने तक के हर मुद्दे पर अपनी राय रखी।

जब हर्षिता से राजनीति के बारे में पूछा गया तो वह बोलीं कि राजनीति गंदी चीज है लेकिन यह और नीचे गिर गई है। हर्षिता ने पूछा कि क्या स्वास्थ्य सुविधा लोगों को मुफ्त मुहैया कराना आतंकवाद है? क्या बच्चों को शिक्षित करना आतंकवाद है? क्या बिजली और पानी व्यवस्था दुरुस्त करना आतंकवाद है?

https://puridunia.com/how-to-win-the-prize-of-millions-won-at-defense-expo-and-how-to-go-to-lucknow/439375/

हर्षिता ने अपने पिता अरविंद केजरीवाल के बारे में बताते हुए कहा कि, मेरे पिता हमेशा से ही समाज सेवा में लगे रहे हैं। मुझे आज भी याद है कि वो मुझे, मेरे भाई को, दादी-दादी को सुबह छह बजे उठा कर भगवद गीता सुनाते थे और हमेशा ‘इंसान का इंसान से हो भाईचारा’ गाना गाकर हमें इसके बारे में बताते थे। क्या यह आतंकवाद है?

हर्षिता केजरीवाल ने आगे कहा कि उन्हें आरोप लगाने दीजिए, उन्हें 200 सांसद लाने दीजिए 11 मुख्यमंत्री भी लाने दीजिए। ‘आप’ के लिए सिर्फ हम ही नहीं दिल्ली के दो करोड़ लोग भी चुनाव प्रचार कर रहे हैं। लोग उन्हें 11 फरवरी को दिखा देंगे कि उन्होंने पांच सालों में हुए काम पर वोट किया है कि भाजपा के आरोपों पर। इसके साथ ही केजरीवाल की पत्नी सुनीता केजरीवाल ने भी कहा कि दिल्ली की जनता बहुत समझदार है। वो लोग 11 फरवरी के दिन जवाब देंगे।

Related Articles