केरल के मुख्यमंत्री ने चक्रवाती तूफान बेरेवी पर बुलाई उच्च-स्तरीय बैठक

केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने गुरुवार को चक्रवात तूफान बेरेवी के मद्देनजर राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एसडीएमए) और अन्य विभागों की एक उच्च-स्तरीय बैठक बुलाई।

तिरुवनंतपुरम: केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने गुरुवार को चक्रवात तूफान बेरेवी के मद्देनजर राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एसडीएमए) और अन्य विभागों की एक उच्च-स्तरीय बैठक बुलाई। बैठक में सात जिलों तिरुवनंतपुरम, कोल्लम, पथानामथिट्टा, कोट्टायम, अलाप्पुझा, इड्डुकी और एर्नाकुलम में भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) द्वारा उठाए गए विभिन्न एहतियाती उपायों की समीक्षा की गई क्योंकि दक्षिण केरल में तीन से पांच दिसंबर तक भारी बारिश और तेज हवाएं चलने के बारे में चेतावनी जारी की गयी है।

इस दौरान केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मुख्यमंत्री पिनाराई के साथ आज चक्रवाती तूफान के मद्देनजर बातचीत की। अमित शाह ने मुख्यमंत्री को कहा कि केंद्र सरकार तमिलनाडु और केरल के लोगों की मदद के लिए हर संभव समर्थन के लिए प्रतिबद्ध है। राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की कई टीमें पहले से ही दोनों राज्यों में तैनात की गयी हैं।

तिरुवनंतपुरम अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा से एहतियातन चार दिसंबर को सुबह दस बजे से शाम छह बजे तक चक्रवाती तूफान के मद्देनजर उडानों को परिचालन नहीं किया जाएगा। राजस्व विभाग द्वारा बनाए गए 217 पुनर्वास शिविरों में तूफान से प्रभावित होने वाले क्षेत्रों के लोगों को स्थानांतरित किया जा रहा है जो तिरुवनंतपुरम जिले के इन शिविरों में 15,840 लोगों के रहने की व्यवस्था की योजना बनायी गयी है।

समुद्री इलाको और निचले इलाकों में रहने वाले लोगों की सहायता के लिए त्वरित प्रतिक्रिया टीम को शहर में तैनात किया गया। जिला कलेक्ट्रेट से किसी भी प्रकार की आपातकालीन सहायता प्रदान करने के लिए 24 घंटे सातों दिन हेल्प लाइन नंबर 1077 की घोषणा की गई है।

स्वास्थ्य मंत्री के०के० शैलजा ने कहा

स्वास्थ्य मंत्री के०के० शैलजा ने कहा कि महामारी के प्रसार को नियंत्रित करने और कोरोना मरीजों की चिकित्सा को ध्यान में रखते हुए सभी स्वास्थ्य केंद्रों में एंटी-स्नेक वेनम, आपातकालीन चिकित्सा किट और एम्बुलेंस सेवा सहित दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए दिशा निर्देश दिया गया है। मौसम विभाग की ओर से तिरुवनंतपुरम, कोल्लम, पथानामथिट्टा, कोट्टायम, अलाप्पुझा, इड्डुकी और एर्नाकुलम जिलों रेड अलर्ट जारी किया गया है और अगले 24 घंटों में 204.5 मिमी बारिश होने का अनुमान जताया गया है।

चार दिसंबर को ओरेंज अलर्ट जारी

विभाग ने कोट्टयम और एर्नाकुलम जिलों में तीन दिसम्बर और तिरुवनंतपुरम, कोल्लम, पथानामथिट्टा, अलप्पुझा, कोट्टयम, एर्नाकुलम और इड्डुकी जिलों में चार दिसंबर को ओरेंज अलर्ट जारी किया और अगले 24 घंटों के दौरान 115.6 मिमी से 204 मिमी बारिश होने का अनुमान जताया है।

ये भी पढ़े : झारखंड में ऐसे कई पर्यटन स्थल जिनकी कोई पहचान नहीं: हेमंत सोरेन

अगले 24 घंटों के दौरान 64.5 मिमी बारिश होने का अनुमान

इसके अलावा तीन और चार दिसंबर को त्रिसूर, पालाक्कड और मालाप्पुरम जिलों और पांच दिसंबर को तिरुवनंतपुरम, कोललम, पथानमथिट्टा, अलाप्पुझा, इड्डुकी, वायनाड, मालाप्पुरम जिलाें और छह दिसंबर को पथानमथिट्टा, इड्डुकी, वायनाड, मालाप्पुरम जिलों में येला अलर्ट जारी किया है और अगले 24 घंटों के दौरान 64.5 मिमी बारिश होने का अनुमान जताया है।

ये भी पढ़े : ट्रक की टक्कर से बाइक सवार सहायक की मौत, ट्रक में लगी आग

117 लोगों को पुनर्वास शिविरों में स्थानांतरित किया गया

इस बीच, केएसआरटीसी की बसों में पोनमुडी लेयम में एस्टेट कर्मचारियों सहित 117 लोगों को पुनर्वास शिविरों में स्थानांतरित किया गया है। भारी बारिश के मद्देनजर थांदला, नेय्यर, कल्लडा, काकी, अरुविक्करा, कल्लडा, मलंकरा, कुंडाला, सिरुवानी, कंजिराप्पुझा, वालयार, पोथुंडी, करप्पुझा सहित विभिन्न बांधों के जल स्तर को नीचे लाने के लिए बांध के गेट उठाने के लिए कदम उठाए गए हैं।

Related Articles

Back to top button