बुर्के पर कमेंट व्हाट्सएप ग्रुप एडमिन को महंगा पड़ा

WhatsApp_logo-color-vertical.svg_केरल के कन्नूर जिले में एक वीडियो प्रोडक्शन स्टूडियो के मालिक को व्हाट्सएप ग्रुप पर मुस्लिमों में पर्दा प्रथा पर टिप्पणी करना उस समय भारी पड़ गया जब गुस्सायी भीड़ ने उसका स्टूडियो जला दिया। यह स्टूडियो एक मुस्लिम का ही था। स्टूडियो का मालिक पी.रफीक व्हाट इज इस्लाम नामक इस ग्रुप का एडमिन था।

कुछ दिन पहले वाम विचारधारा के रफीक ने मुस्लिम महिलाओं की पर्दा प्रथा पर टिप्पणी की थी। उसने टिप्पणी की थी कि कुछ लोगों द्वारा पर्दे का इस्तेमाल अनैतिक चीजों को छिपाने के लिए करते हैं। इसके बाद रफीक को धमकियां मिलनी शुरू हो गयी थीं। शनिवार को तड़के उनका स्टूडियो फूंक दिया गया। रफीक ने कहा है कि इस अग्निकांड से उन्हें दस लाख रूपये का नुकसान हुआ है। आग लगाने से पहले उपद्रवियों ने उपकरण और फर्नीचर को भी क्षतिग्रस्त कर दिया था। पुलिस को शक है कि इस मामले में कट्टरपंथी तत्‍वों का हाथ हो सकता है। हालांकि, वारदात के पीछे किस संगठन का हाथ है, यह अभी तक पता नहीं चल पाया है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button