क्या अखिलेश की ‘साइकिल’ को चाचा ने दी ‘चाबी’, सियासी गलियारों में हो रही ये चर्चा

मुलाकात हुई कुछ बात हुई

आज उस वक्त UP में सियासी हलचलें बढ़ गई जब चाचा शिवपाल यादव से मिलने पहुंचे अखिलेश यादव. बता दें चुनावों की तारीख नजदीक आते-आते राजनीतिक हलचल भी तेज हो गई हैं. इसी कड़ी में आज चाचा से अखिलेश मिलने पहुंचे और इस दौरान दोनों के बीच विलय और सीटों को समीकरण को लेकर बातचीत हुई. उत्तर प्रदेश की राजनीति में ये मुलाकात काफी महत्व रखती है. 2017 के विधानसभा चुनावों में दोनों नेताओं के बीच वर्चस्व की लड़ाई शुरू हुई थी और चुनाव बाद समाजवादी पार्टी से टूट कर शिवपाल यादव ने अपनी अलग प्रगतिशील समाजवादी पार्टी बना ली थी.

दो साल से सपा में विलय को लेकर थे आतुर

वर्चस्व की इस लड़ाई का खामियाजा समाजवादी पार्टी और ये दोनों नेता पिछले विधानसभा चुनाव में झेल चुके हैं. वहीं 2019 के लोकसभा चुनाव में भी इन दोनों ही नेताओं को अलग होने का खामियाजा भुगतना पड़ा था. हालांकि तभी से शिवपाल यादव के व्यवहार में नरमी दिखी और वो पिछले दो साल से समाजवादी पार्टी में वापस आने और अपनी पार्टी का सपा में विलय कराने को लेकर आतुर दिखे हैं. हालांकि अखिलेश यादव इसमें रुचि नहीं दिखा रहे थे, लेकिन माना जा रहा है कि वो अब चाचा को अपने साथ ला सकते हैं.

राजनीतिक गलियारों में जोरों पर चर्चा

अब अखिलेश यादव चाचा शिवपाल यादव के घर गए हैं, जिसके बाद एक बार फिर राजनीतिक गलियारों में ये चर्चा जोरों पर है कि शिवपाल यादव जिन्होंने समाजवादी पार्टी से अलग होकर अपनी पार्टी बना ली थी, वो एक बार फिर समाजवादी पार्टी के साथ मिलकर आगामी विधानसभा चुनावों में उतर सकते हैं. वहीं उनकी पार्टी का भी समाजवादी पार्टी में विलय हो सकता है.

यह भी पढ़ें- UP चुनाव से पहले योगी सरकार ने खोला पिटारा, किया ये बड़ा ऐलान

(Puridunia हिन्दी, अंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब  पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)…

Related Articles