जेटली के खिलाफ बोलने पर बीजेपी से आजाद होंगे कीर्ति!

imagesनई दिल्ली। डीडीसीए मामले में बीजेपी की नसीहत मानने से इनकार करने के बाद पार्टी के सांसद कीर्ति आजाद पर अब कड़ी कार्रयाई की जा सकती है। डीडीसीए पर वित्‍त मंत्री के खिलाफ मोर्चा खोलने के बाद से ही पार्टी कीर्ति से नाराज चल रही है। उनकी इसक हरकत को पार्टी विरोधी गतिविधि के तौर पर देखा जा रहा है। सूत्रों के मुताबिक अब उनका बीजेपी से निकाला जाना लगभग तय है।

संसद का शीतकालीन सत्र खत्म होने के बाद पार्टी कीर्ति को कारण बताओ नोटिस देगी। इसके बाद उन्हें निलंबित भी किया जा सकता है। बुधवार को संसद सत्र का अंतिम दिन है। ऐसे में सरकार नहीं चाहती कि सत्र के दौरान किसी तरह का नया विवाद पैदा हो और अंतिम दो दिन भी हंगामे की भेंट चढ़ जाएं। सरकार की प्राथमिकता इन दो दिनों में कुछ अहम विधेयकों को पारित कराने की है।

कीर्ति पर आरोप है कि उन्होंने विपक्षी नेताओं के साथ मिलकर खुलेआम जेटली की और पार्टी की खिलाफत की है। कीर्ति ने डीडीसीए में जेटली पर वित्तीय अनियमितताओं का आरोप लगाया है। उन्होंने संसद में बयान देकर इसकी सीबीआई जांच कराने की भी मांग की है। जेटली ने मामले में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल समेत छह आप नेताओं के खिलाफ मानहानि का केस किया है।

इस बीच, कार्ति आजाद की पत्नी पूनम झा ने एक अंग्रेजी अखबार से बातचीत में बताया कि उनका नाम सेंसर बोर्ड के एडवाइजरी पैनल से हटा दिया गया। बकौल पूनम, सूचना और प्रसारण मंत्रालय की ओर से 24 नवंबर को 108 नामों की अंतिम सूची जारी की गई, जिसमें उनका नाम नहीं था। जबकि इससे पहले मंत्रालय के ही एक अधिकारी ने उनसे इस पैनल को जॉइन करने को कहा था। इस समय सूचना प्रसारण मंत्रालय भी जेटली ही देखरेख में ही चल रहा है।

वहीं डीडीसीए विवाद के बाद आज बीजेपी की संसदीय बोर्ड की बैठक हो रही है, कीर्ति आजाद इसमें भी हिस्‍सा लेने के लिए नहीं पहुंचे हैं। बीजेपी की इस बैठक को डीडीसीए पर जेटली के साथ पार्टी में एकजुटता के रूप में देखा जा रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button