किसान आंदोलन: संसद का शीतकालीन सत्र न चलने पर गरजीं प्रियंका

नई दिल्ली: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने संसद का शीतकालीन सत्र आयोजित नहीं होने पर सरकार पर निशाना साधा है। प्रियंका ने सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा कि वह पूंजीपति मित्रों को फायदा पहुंचाने के लिए संसद सत्र आयोजित करती है। लेकिन किसानों की समस्या पर बात नहीं हो, इसलिए शीतकालीन सत्र टाल देती है।

प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि सरकार ने मानसून सत्र कोरोना संकट के बीच चलाया और अपने पूंजीपति मित्रों को फायदा देने के लिए तीन कृषि कानून पारित कराए। किसान इन कानूनों में की गई व्यवस्था के खिलाफ आंदोलन कर रहे हैं लेकिन सरकार आंदोलन खत्म करने के लिए ना उनसे बातचीत कर रही है और ना ही संसद का शीतकालीन सत्र बुला रही है।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा ने ट्वीट कर लिखा, “कोरोना काल के बीच में संसद चलाकर भाजपा सरकार ने अरबपति मित्रों के लिए बनाए गए कृषि कानूनों को पास कर दिया लेकिन किसानों की मांग पर, 11 किसानों की शहादत और बाबा राम सिंह की आत्महत्या के बावजूद किसान बिलों पर चर्चा के लिए संसद नहीं खुल सकती। इतना ज्यादा अहंकार और असंवेदनशीलता”

यह भी पढ़ें: पश्चिम बंगाल: जल्द BJP का दामन थाम सकते हैं ममता के अधिकारी

Related Articles

Back to top button