Kisan Andolan: किसान ने लगाई फांसी, मौके पर Suicide Note बरामद

कृषि कानूनों के विरोध में किसान आंदोलन का आज 74वां दिन है। टिकरी बॉर्डर पर एक और किसान ने आत्महत्या की और जींद से आए कर्मबीर किसान ने फांसी लगा ली। मौके पर सुसाइड नोट (Suicide note) भी बरामद हुआ है

नई दिल्ली: दिल्ली और यूपी के गाजीपुर बॉर्डर पर तीनों कृषि कानूनों के विरोध में किसान आंदोलन का आज 74वां दिन है। टिकरी बॉर्डर पर एक और किसान ने आत्महत्या की और जींद से आए कर्मबीर किसान ने फांसी लगा ली। मौके पर सुसाइड नोट (Suicide note) भी बरामद हुआ है। फिलहाल दिल्ली-हरियाणा के टिकरी बॉर्डर पर सुरक्षाबलों की भारी तैनाती की गई है।

क्या है पूरा मामला

सरकार के नए कृषि कानूनों के विरोध में किसानों के विरोध का आज 74वां दिन है। आंदोलन में शामिल टिकरी बॉर्डर पर एक किसान ने आत्महत्या कर ली। कुछ दिन पहले ही वह किसान आंदोलन में शामिल होने आया था। दूसरी तरफ  जींद से आए किसान कर्मबीर ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मौके से एक सुसाइड नोट (Suicide note) भी बरामद हुआ है।

किसान आंदोलन

यह भी पढ़ेDelhi: ओखला इलाके में लगी भीषण आग, झुग्गियां जलकर खाक

सुसाइड नोट (Suicide note) बरामद

Suicide note (सुसाइड नोट) में लिखा है कि सरकार तारीख पर तारीख दे रहीं है। पता नहीं कब ये काले कानून रद्द होंगे। जब तक ये काले कानून रद्द नहीं होते हैं तब तक हम यहां से नहीं जाएंगे। मृतक किसान कर्मबीर जींद के सिंघवाल गांव का रहने वाला है। पुलिस मे शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम (Post mortem) के लिए नागरिक अस्पताल भिजवा दिया है।

सुसाइड नोट

किसान को Heart Attack

टिकरी बॉर्डर पर आज सुबह-सुबह एक और किसान की मौत हो गई। किसान नेताओं के मुताबिक 60 वर्षीय सुखमिंदर सिंह की मौत दिल का दौरा पड़ने से हुई है। जानकारी के मुताबिक, किसान सुखमिंदर सिंह आंदोलन के पहले दिन से ही धरनास्थल पर मौजूद थे। आज सुबह करीब 8.30 बजे उन्हें दिल का दौरा (Heart Attack) पड़ा था। हरियाणा (Haryana) के चरखी दादरी में आज किसानों की एक महापंचायत होने वाली है। भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत(Rakesh Tikait) भी इस महापंचायत में शामिल होंगे।

यह भी पढ़ेUK: चमोली में टूटा ग्लेशियर, बड़ी संख्या में मजदूरों के बहने की आशंका

Related Articles

Back to top button