तेज बारिश की वजह से रुकी किन्नर कैलाश यात्रा

शिमला| अचानक आई बाढ़ से दो श्रद्धालुओं के मारे जाने के बाद, हिमाचल प्रदेश सरकार ने रविवार को किन्नर कैलाश यात्रा को अस्थायी तौर पर रोक दिया है। यह यात्रा समुद्र तल से 6,050 मीटर ऊंचाई पर स्थित चट्टान से निर्मित भगवान शिव के 79 फुट ऊंचे शिवलिंग को समर्पित है।

किन्नर कैलाश यात्रा कार्यवाहक उपायुक्त अवनिंद्र कुमार ने एक आधिकारिक बयान में कहा, “किन्नर कैलाश यात्रा को किन्नौर जिले में भारी बारिश और अचानक आई बाढ़ की वजह से अगले आदेश तक रोक दिया गया है।”

उन्होंने कहा कि किन्नर कैलाश जाने के रास्ते में कांगरांग नदी में अचानक आई बाढ़ में दो श्रद्धालु बह गए और कई फंस गए हैं।

बयान के अनुसार, “श्रद्धालु अभी भी श्रद्धासुमन अर्पित करने यहां आ रहे हैं। प्रशासन ने श्रद्धालुओं से किन्नर कैलाश की यात्रा सुरक्षित होने तक किन्नौर नहीं आने का आग्रह किया है।”

बयान के अनुसार, पड़ोसी राज्यों से श्रद्धालु यहां आधार शिविर तक आ रहे हैं, लेकिन उन्हें पुलिस द्वारा रोका जा रहा है। श्रद्धालुओं को ट्रेकिंग करने से मना करने के लिए नियंत्रण कक्ष की स्थापना की गई है।

किन्नर कैलाश जाने के मार्ग में शनिवार को विभिन्न जगहों से कम से कम 251 यात्रियों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया।

अधिकतर श्रद्धालु किन्नर कैलाश के समीप गणेश पार्क में फंस गए। तीर्थयात्रा को अभी भी आधिकारिक रूप से शुरू होना है।

Related Articles