जानिये कर्नाटक के दो आकर्षक स्थलों के बारे में, वहां कब और कैसे पहुंचें

यात्राएं करना अपने आप में बड़ा ही रोमांचक अनुभव होता है. पर्यटन स्थलों के लिहाज से घूमने का एक खास समय होता है. यहां हम आपको बताने जा रहे हैं कर्नाटक की ऐसी जगहों के बारे में, जहां आपको भरपूर जीवन जीने को मिलेगा. घूमने के लिए अनुकूल समय, पहुंचने के रास्ते और आकर्षक स्थलों के बारे में भी हम आपको जानकारी दे रहे हैं.

कर्नाटक की बहुत सी ऐसी चीजें हैं जो प्रमुख आकर्षण का केंद्र है. कर्नाटक में कई सारी ऐसी जगहें और स्थल हैं, जिन्होंने न सिर्फ भारत में बल्कि पूरे विश्व में अपनी अलग पहचान बनाई है. यही कारण है कि विदेशों से भी लोग यहां घूमने के लिए आते हैं.

कूर्ग

कर्नाटक का एक सुंदर, लुभावना और आकर्षक हिल स्टेशन है- कूर्ग. घूमने-फिरने के शौकीनों के लिए कर्नाटक स्थित कूर्ग को देश के शीर्ष पर्यटन केंद्रों में से एक माना जाता है. बंगलूरू की भागदौड़ भरी जिंदगी से सुकून के कुछ पल बिताने लोग यहां जरुर जाते  हैं. यहां की यात्रा कर लोग एक बार फिर से ऊर्जा से भर जाते हैं.
कब पहुंचें कूर्ग:
अक्टूबर से मार्च के बीच यहां की यात्रा करना अच्छा रहता है.

प्रमुख आकर्षण:

अभय जलप्रपात, नल्कनड पैलेस, बारापोल नदी, ब्रह्मगिरी शिखर, इरुप्पु जलप्रपात, नामद्रोलिंग मठ, नागरहोल राष्ट्रीय उद्यान, चेलवारा में माइक्रोलाइट उड़ान, कावेरी नदी कोण
कैसे पहुंचें कूर्ग:
हवाई मार्ग से: निकटतम घरेलू हवाई अड्डा मंगलोर. यहां से दूरी- 156 किमी
निकटतम अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा बेंगलुरु. यहां से दूरी- 285 किमी
रेल मार्ग से: मैसूर जंक्शन. यहां से दूरी 106 किमी
सड़क मार्ग से: बेंगलूरू से 238 किमी लंबी सड़क यात्रा. समय 5:30 घंटे

गोकर्ण

गोकर्ण, अरब सागर पर स्थित कर्नाटक का एक शहर है. यह एक हिंदू तीर्थस्थल है, जिसमें महाबलेश्वर मंदिर और कोटि तीर्थ सहित कई पवित्र स्थल हैं. गोकर्ण को अक्सर कम भीड़ वाला गोवा भी कहा जाता है. कारण कि यहां कई आकर्षक समुद्र तट हैं, जहां आप सुकून से कुछ समय बिता सकते हैं. आराम करने के लिए यहां के ‘बीच’ आकर्षण का केंद्र होते हैं.
कब पहुंचें गोकर्ण: आप साल में कभी भी यहां जा सकते हैं.
प्रमुख आकर्षण:
ओम बीच, महाबलेश्वर मंदिर, कुडले बीच, गोकर्ण बीच, याना, हाफ मून बीच, कोटि तीर्थ, पैराडाइज बीच

कैसे पहुंचें गोकर्ण:
हवाई मार्ग से: निकटतम हवाई अड्डा- डाबोलिम, गोवा. यहां से टैक्सी या ट्रेन से जा सकते हैं.
रेल मार्ग से: निकटतम रेलवे स्टेशन- गोकर्ण रोड. मुख्य शहर से दूरी- आठ किमी.
सड़क मार्ग से: गोकर्ण भारत के प्रमुख शहरों से सड़क मार्ग से जुड़ा हुआ है.

Related Articles