जानिए कैसे डिजिटल की दीवानगी ने लूटा करोड़ों का Data

मुंबई : रिसेंटली हैकर्स के एक ग्रुप ने Mobikwik को चपत लगते हुए दावा किया है की उन्होंने पेमेंट ऐप्प के 9.9 करोड़ भारतीय यूजर्स का Data उड़ा लिया है। हैक हुए Data में यूज़र्स के मोबाइल फोन नंबर, बैंक अकाउंट डिटेल्स, ई-मेल और क्रेडिट कार्ड नंबर तक शामिल हैं। इस बात का खुलासा किया साइबर सेक्युरिटी एक्सपर्ट राजशेखर राजहरिया ने किया। हालाँकि पेमेंट कम्पनी ने इस डाटा ब्रीच को एक सिरे से नकार दिया था जिसके बाद हैकर ग्रुप Jordan Daven ने हैक्ड डेटाबेस का एक लिंक न्यूज़ एजेंसी पीटीआई को शेयर कर कंपनी की पोल खोल दी।

Data से पैसे कमाना है मकसद

इसी के साथ हैकर्स ने यह भी साफ किया की ऐसा करने के पीछे उन का मकसद कंपनी से पैसे की उगाही करना है और पैसे मिलते ही वह यूज़र्स का डाटा डिलीट भी कर देंगे। आप को बताते चलें की हैकर्स ने जो लिंक पीटीआई को दिया है उसमे Mobikwik के फाउंडर बिपिन प्रीत सिंह और कंपनी के सीईओ उपासान ताकू तक का ब्यौरा है।

मोबिक्विक ने जब इसे प्रोपगंडा कहा तो हैकर्स ने ये साबित करने के लिए की ये डाटा मोबिक्विक का है क्यूआर कोड की कई तस्वीरों के साथ मोबिक्विक के कस्टमर्स का  KYC इंटरनेट पर अपलोड कर दिए। जिसके बाद कंपनी अब थर्ड पार्टी इन्वेस्टीगेशन को राज़ी हुई है।

ताकि आप न डूबें Data लीक के इस दलदल में

अब अगर आप मोबिक्विक यूजर हैं तो https://cybernews.com/personal-data-leak-check/ पर जाकर चेक कर सकते हैं की आपका डाटा लीक हुआ है या नहीं और अगर आपकी इनफार्मेशन इधर शो हो रही है तो फ़ौरन अपना कार्ड ब्लॉक करवाएं और सारे डिजिटल पासवर्ड्स चेंज करें।

यह भी पढ़ें : Rhea Chakraborty ने 7 महीने बाद इंस्टाग्राम पर शेयर की ये खास तस्वीर, लिखी दोस्ती पर बड़ी बात

Related Articles

Back to top button