IPL
IPL

जानिए कैसे दिवालिया होने के बाद भी वीडियोकॉन लगा सकता है Airtel को चपत!

नई दिल्ली : मनीकंट्रोल की माने तो टेलीकॉम विभाग ने हाल ही में दिवालिया हो चुकी वीडियोकॉन पर बकाया 1376 करोड़ रुपये का AGR अब Airtel से वसूलने का मन बना लिया था। जिसे एयरटेल ने नामंज़ूर करते हुए सुप्रीम कोर्ट में कहा की यह मांग बिल्कुल गैर-कानूनी है क्योंकि कुछ साल पहले वीडियोकौन का एक स्पेक्ट्रम खरीदने भर से कंपनी (एयरटेल) उस की पहले की तमाम लायबिलिटीज के लिए ज़िम्मेदार नहीं हो जाती।

यह भी पढ़ें : Dance Deewane 3 के जज Dharmesh Yelande हुए Covid-19 Positive, बीते दिनों 18 Crew Members भी आए थे पॉजिटिव

यह है Airtel वीडियोकॉन के इस विवाद की वजह

आप को बता दें कि साल 2016 में वीडियोकॉन टेलीकम्युनिकेशंस ने एयरटेल को अपना 30 मेगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम 4428 करोड़ रुपये बेच दिया था। जिसके बाद टेलीकॉम विभाग ने वीडियोकॉन पर 1,376 करोड़ रुपये रुपये का AGR एयरटेल के मत्थे मड दिया । अब अगर आप नहीं जानते तो आप की जानकारी के लिए बताते चलें की  AGR टेलीकॉम विभाग द्वारा टेलीकॉम कंपनियों से लिया जाने वाला लाइसेंसिंग और यूजेज फीस होती है जिसमे स्पेक्ट्रम यूजेज चार्ज के साथ साथ लाइसेंसिंग फीस भी शामिल होती है।

यह भी पढ़ें : जानिए कौन होगा अमेरिकन शेयर मार्केट में बवाल मचाने वाली GameStop Corp का नया चेयरमैन !

Related Articles

Back to top button