OMG! पत्थर मारकर पता कर लेते हैं कि महिला के गर्भ में लड़की है या लड़का

0

नई दिल्लीः सरकार ने सोनोग्राफी मशीन पर प्रतिबंध इसीलिए लगाया था ताकि भ्रूण हत्या को रोका जा सकता है। इस मशीन से पेट में पल रहे शिशु का ‘लिंग’ पता करने पर भारत में उचित दंड का प्रावधान है।

कन्या भ्रूण हत्या को रोकने के लिए ही सरकार ने सोनोग्राफी पर प्रतिबंध लगाया है। लेकिन कई लोग घरेलू तरीकों से इसे पता कर लेते हैं। जैसी की इस गांव ऐसी पहाड़ी भी है जो गर्भ में पल रहे नवजात लड़का है या लड़की इस बारे में बता देती है।

ये अनोखा तरीका झारखंड के लोहरदगा स्थित खुखरा गांव के लोग इसका इस्तेमाल करते हैं। यहां के लोग मानते हैं, कि ये पर्वत बीते 400 सालों से लोगों को उनके भविष्य के संबंध में जानकारी दे रहा है। यहां के लोगों में इसके प्रति बहुत श्रृद्धा हैं।

उनका का मानना है कि इस पर्वत पर चांद के आकार की आकृति नवजात के लिंग के बारे में बताती है। बता दें कि, इस पहाड़ी पर पत्थर मारकर इस बात की जांच की जाती है। गर्भवती महिला एक निश्चित दूरी से पत्थर को इस पहाड़ी पर बने चांद की ओर मारती है।

ये भी पढ़ें…….ये 10 आहार शामिल करे डाइट में, बढ़ा देंगे आपका ब्रेन पॉवर

अगर पत्थर चंद्रमा के आकार के ठीक बीच में जाकर लगा तो लोग समझ जाते हैं कि गर्भ में लड़का है और अगर वह पत्थर चंद्रमा के बाहर लगे तो मानते हैं कि गर्भ में पल रही नवजात लड़की है।

loading...
शेयर करें