जानिए जामुन खानें के फायदे, त्वचा की रंगत निखरेगी, पत्थरी की समस्या होगी दूर

जामुन में ग्लूकोज और फ्रक्टोज दो मुख्य स्रोत होते हैं। इसमें खनिजों की संख्या अधिक होती है। अन्य फलों की तुलना में यह कम कैलोरी प्रदान करता है

लखनऊ: जामुन एक सदाबहार वृक्ष है जिसके फल बैंगनी रंग के होते हैं। जामुन को विभिन्न घरेलू नामों से जाना जाता है जैसे राजमन, काला जामुन, जमाली, ब्लैकबेरी आदि के नाम से जाना जाता है। इसमें स्वाद में स्वाद में मीठा होता है। इसे नमक के साथ खाया जाता है।

इसमें में ग्लूकोज और फ्रक्टोज दो मुख्य स्रोत होते हैं। इसमें खनिजों की संख्या अधिक होती है। अन्य फलों की तुलना में यह कम कैलोरी प्रदान करता है। इस फल के बीज में काबोहाइट्ररेट, प्रोटीन और कैल्शियम की अधिकता होती है। यह लोहा का बड़ा स्रोत है। प्रति 100 ग्राम में एक से दो मिग्रा आयरन होता है। इसमें विटामिन B, कैरोटिन, मैग्नीशियम और फाइबर होते हैं। ‌‌‌‌‌‌जामुन का प्रयोग कई सारी बिमारियों के उपचार मे किया जाता है। गर्मियों के दिनों मे जामुन के सेवन करने से लू नहीं लगती है। यह कैंसर की संभावना को कम करने मे भी काफी मददगार है।

 

जामुन खाने के फायदे

  • इसे खाने से शुगर (Diabetes) के रोगी को फायदा होता है। यह रक्त के अंदर शक्करा की मात्रा को नियंत्रित करता है। डायबिटिज के रोगी को रोजाना जामुन का सेवन करना चाहिए। रोज 100 ग्राम जामुन का सेवन करना चाहिए। जामुन की गुठली ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने मे काम आती है।
  • पेट (Stomach) से जुड़ी समस्या को दूर करने के लिए जामुन फायदे मंद है। रोज सुबह खाना खाने के बाद  जामुन खाने से पेट साफ होता है। पेट के अंदर ऐंठन की समस्या दूर करने के लिए जामुन की छाल का काढा बनाकर पीने से दूर हो जाती है।

Anemia का उपचार

  • एनिमिया (Anemia) के उपचार मे जामुन फायदेमंद है। जामुन हमारे शरीर के अंदर खून की कमी को दूर करते हैं। जिस व्यक्ति के शरीर के अंदर खून की कमी हो उसे जामुन का सेवन करना चाहिए। जामुन के अंदर कैल्शियम, पो‌‌‌टैशियम और आयरन पाये जाते हैं। जो हमारे शरीर की रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढाते हैं।
  • इसके पत्ते मसूड़ों के लिए फायदेमंद हैं। यदि मसूंड़ो के अंदर खून आता है तो जामून की गुंठली पीस कर नमक के साथ मसूडों पर लगाने से फायदा होता है। यदि मूंह के अंदर दूर्गंध आ रही है तो जामून के पत्ते चबाना चाहिए। यदि लिवर (liver) के अंदर किसी प्रकार की समस्या है तो सुबह शाम इस फल के रस को पीना चाहिए जिससे लिवर की समस्या ठीक हो जाएगी ।
  • किसी व्यक्ति को पत्थरी (Stone) की समस्या है तो इस फल के बीज का पाउडर दही के साथ मिलाकर रोज खाने से पत्थरी की समस्या भी दूर हो जाती है। जिस व्यक्ति को गठिया होता है। उसे इसकी छाल को पीस कर जोड़ों पर लेप करने से फायदा होता है।

‌‌‌त्वचा की रंगत को बढ़ाने मे फायदेमंद

  • ‌‌‌त्वचा की रंगत को बढ़ाने मे मददगार है यह फल, जामुन के बीजों का प्रयोग चेहरे के पिंपल्स को हटाने के लिए किया जाता है। बीजों को पीस कर दूध मिलाकर पेस्ट बनाकर सोने से पहले चेहरे पर लगाएं ऐसा कई दिनों तक करें जिससे चेहरा साफ होगा और चेहरे के दाग दब्बे दूर होंगे।
  • छोटे बच्चों के लिए भी जामुन अच्छे रहते हैं यदि बच्चों को दस्त की समस्या हो तो जामुन की ताजी छाल को पिस कर बकरी के दूध के साथ मिलाकर पीने से लाभ होता है। यदि बच्चे बिस्तर पर पेशाब करते हैं तो जामुन का चूर्ण खिलाने से लाभ होता है।

यह भी पढ़ेMP में 49 पॉजिटिव मामले Shivraj Singh Chauhan बोले- सावधान रहने की आवश्यकता है

(Puridunia हिन्दीअंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Related Articles