जानिए, दुनिया के सबसे पुराने मंदिर का रहस्य

0

हमारे भारत में भक्तों की कमी नहीं है और उन भक्तों के लिए मंदिरों की कमी नहीं है, बता दे कि भारत को मंदिरों का देश भी कहते हैं। इस देश में इतने सारे मंदिर हैं कि आपको एक जगह ऐसी नहीं मिलेगी जहां कोई मंदिर दिखाई ना दे। क्या आपको पता है दुनिया के सबसे पुराना मंदिर कौन सा है, जहां आज भी लोग दर्शन करने जाते हैं।दरअसल, मुंडेश्वरी को सबसे पुराने मंदिरों में शुमार किया जाता है। इस बात के प्रमाण भी हैं कि श्रीलंका के भी श्रद्धालु यहां आते थे। इसे 635-636 ईस्वी में बनाया गया था। हालांकि, कुछ अन्य अध्ययनों के मुताबिक़ लोग इसको और पुराना मानते हैं। गर्भगृह में शिव और शक्ति यानी देवी की मूर्तियां हैं। आज मंदिर टूटा हुआ है। कई मूर्तियां भी खंडित हैं। ये कैमूर की पहाड़ी पर 650 फीट ऊंचाई पर है। मंदिर का पुराना शिखर नष्ट हो चुका हैं, उसकी जगह नई छत बना दी गई है।

लोगों की मान्यता है कि चंड-मुंड नाम के असुरों का नाश करने के लिए, जब देवी प्रकट हुई तो चंड के मारे जाने के बाद युद्ध करते-करते मुंड इसी पहाड़ी में आकर छिप गया था। यहीं पर देवी ने उसका वध किया था। इसी वजह से इसे मुंडेश्वरी माता का मंदिर कहा जाता है।

इसके साथ ही, यहां दर्शन के लिए श्रीलंका से भी श्रद्धालु आते थे। इस बात का प्रमाण मंदिर के रास्तों में पाए गए सिक्के हैं। सिक्कों और यहां पहाड़ी के पत्थरों पर तमिल और सिंहली भाषा में अक्षर लिखे हुए हैं। पहाड़ी पर एक गुफा भी है। हालांकि, इसे सुरक्षा की वजह से बंद कर दिया गया है।

loading...
शेयर करें