IPL
IPL

विश्व Journalism स्‍वतंत्रता दिवस पर जानें खास बात, सीएम योगी ने किया ट्वीट

लखनऊ: 3 मई यानी आज के दिन सोमवार को मनाए जाने वाले विश्व प्रेस स्वतंत्रता (Journalism) दिवस पर भारत में भी प्रेस (Journalism) की स्वतंत्रता पर बातचीत होना बेहद महत्वपूर्ण है। हमारे लोकतांत्रिक देश भारत में प्रेस की स्वतंत्रता एक मौलिक जरूरत है। भारत में अधिकतर प्रेस की स्वतंत्रता को लेकर चर्चा होती रहती है। इससे यह बात साबित होता है कि उस देश में अभिव्यक्ति की कितनी स्वतंत्रता है।

देश में प्रेस की स्वतंत्रता भारतीय संविधान के अनुच्छेद-19 में भारतीयों को दिए गए अभिव्यक्ति की आजादी के मूल अधिकार से सुनिश्चित होती है। विश्व स्तर पर प्रेस की आजादी को सम्मान देने के लिए संयुक्त राष्ट्र संघ की महासभा द्वारा 3 मई को विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस घोषित किया गया, जिसे आज 3 मई को विश्व प्रेस दिवस के रूप में मनाया जाता है।

1997 में हर साल

यूनेस्को द्वारा 1997 से हर साल 3 मई को विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस पर गिलेरमो कानो वर्ल्ड प्रेस फ्रीडम प्राइज भी दिया जाता है। 1997 से अब तक भारत के किसी भी पत्रकार को यह पुरस्कार नहीं मिलने की एक बड़ी वजह कई वरिष्ठ पत्रकार पश्चिम और भारत में पत्रकारिता के मानदंडों में अंतर को बताते हैं।

ये भी पढ़ें: Corona vaccine लगवाने से पहले पढ़ें खबर, डाइट में इन्हें करें शामिल नहीं होगा साइड इफेक्ट्स

पत्रकारों का किरदार

भारत की आजादी के वक्त भी पत्रकारों ने महत्वपूर्ण किरदार अदा किया है, जिसे आज भी भुलाया नहीं जा सकता। ‘विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस’ प्रेस की स्वतंत्रता का मूल्यांकन, प्रेस की स्वतंत्रता पर बाहरी तत्वों के हमले से बचाव और प्रेस की सेवा करते हुए दिवंगत हुए पत्रकारों को श्रद्धांजलि देने का दिन है।

ये भी पढ़ें: Acharya Swami Vivekananda: देखें राशिफल, आज रुपए के मामले में इनका दिन रहेगा अच्छा

सीएम ने किया ट्वीट

सीएम योगी ने इस मौके पर ट्वीट करके लिखा है कि निष्पक्ष, पारदर्शी एवं मानवीय मूल्यों को आत्मसात कर दशकों से जन हितों को स्वर प्रदान कर लोकतंत्र को मजबूती प्रदान कर रहे प्रेस जगत से जुड़े समस्त लोगों को ‘विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस’ की हार्दिक शुभकामनाएं।

 

 

Related Articles

Back to top button