जानिए प्रधान मंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ कौन उठा सकता है और कैसे

PM किसान सम्मान निधि की छठी किस्त के 2 हज़ार रूपये किसानों के खातों में आने शुरू हो गए हैं। इस योजना के तहत हर साल सरकार किसानों को छह हज़ार रुपये देती है।लेकिन अब भी कुछ ऐसे किसान हैं जो इस बात को लेकर परेशान हैं कि वो इस योजना का लाभ कैसे लें।क्या नियम हैं और करें की उन्हें इस योजना के ज़रिए हर साल से हज़ार रुपये मिल जाएँ। तो आइए हम बताते हैं कि आप किन योग्यताओं के आधार पर किसान सम्मान निधि योजना का लाभ ले सकते हैं।

कौन है योग्य कौन अयोग्य

सबसे पहले अगर आप सरकारी कर्मचारी हैं तो आप इस योजना का लाभ नहीं ले सकते ,आप इसके बारे में सोचना छोड़ ही दीजिये। अगर आप के पास कृषि योग्य जमीन है लेकिन आप किसी सरकारी संस्था में काम कर चुके हैं या काम कर रहे हैं या सांसद विधायक मंत्री जैसे किसी पद पर हैं तो आप इस योजना का लाभ नहीं ले सकते। बाक़ी कुछ प्रोफ़ेशनल्स भी जैसे डॉक्टर, इंजीनियर इनको भी इस योजना का लाभ नहीं मिलता है।

इस योजना का लाभ लेने के लिए सबसे पहले ज़रूरी है कि किसान के नाम पर खेती की ज़मीन होनी चाहिए। अगर वह ज़मीन किसान के पिता दादा या किसी भी और के नाम है जिसमें वह खेती कर रहा है तो उसे किसान सम्मान निधि योजना का लाभ नहीं मिलेगा। अगर कोई व्यक्ति ख़ुद उस जमीन का मालिक है लेकिन उसे हर महीने 10 हज़ार या उससे ज्यादा की पेंशन मिलती है तो उसे भी इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा। सरकारी दिशा निर्देशों के अनुसार यह योजना ख़ासकर छोटे किसानों के लिए है जिनका एक परिवार है और जिस राज्य में रह रहे हैं उसकी भूमि रिकॉर्ड के अनुसार उनकी कुल खेती योग्य उद्यमी 2 हेक्टेयर या उससे कम की है। तो कागज करिये तैयार और लीजिये किसान सामान निधि का लाभ।

Related Articles