जानिए कौन हैं Yoganathan जिनकी सोच से प्रधानमंत्री हैं बेहद खुश

चेन्नई :आइये आप को मिलाते हैं Marimuthu Yoganathan ,से जिन्हें भारत के ’ट्री मैन’ के रूप में भी जाना जाता है। यूँ तो इन के जैसे लोग अपनी तारीफ की फ़िक्र नहीं करते लेकिन आज जो तारीफें इन को मिल रही हैं यह उस के हक़दार भी हैं। आप को बताते चलें की Yoganathan वही शख्स हैं जिनकी तारीफ 28 मार्च को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मन की बात के माध्यम से देश के नाम दिए गए अपने संबोधन के दौरान की थी ।

Yoganathan सैलरी का बड़ा हिस्सा पर्यावरण पर करते हैं खर्च

तमिलनाडु राज्य परिवहन निगम के लिए काम करने वाले योगनाथन यूँ तो पेशे से एक बस कंडक्टर हैं जो कोयम्बटूर शहर से ताल्लुक रखते हैं। जो बात इन्हें दूसरों से अलग बनती है वह है इन का पर्यायवरण के प्रति जूनून। पिछले कई सालों से, योगनाथन लोगों में  पेड़ लगाने की आदत को बढ़ावा देने के लिए एक तरकीब करते चलें आ रहे हैं जिस पर उन की सैलेरी का एक बड़ा जिस खर्च हो जाता है।

असल में बात यह है की जब कोई उन की बस में सवार होता है तो टिकट के साथ यह उसे एक पेड़ गिफ्ट देते हैं। और ऐसा योगनाथन पिछले 30 साल से करते आ रहे हैं। और ऐसा करते हुए वह अबतक तीन लाख से ज़्यादा पेड़ पौधे लगा और लगवा चुके हैं।

मन की बात से हुए मशहूर

गुमनामी में छुपे इस हीरे की जब पीएम मोदी ने मन की बात में तारीफ की तब देश के ज़्यादातर लोगों को इन के बारे में पता चला।

पीएम मोदी ने इन का ज़िक्र करते हुए कहा था की  योगनाथन जी अपनी बस के यात्रियों को टिकट जारी करते समय एक फ्री गिफ्ट भी देते हैं। इन्होने काफी पेड़ लगाए और लगवाए हैं।  योगनाथनजी इस काम के लिए अपने वेतन का एक बड़ा हिस्सा खर्च कर रहे हैं। उन्होंने कहा की  इस कहानी को सुनने के बाद, एक नागरिक के रूप में कौन मारीमुथु योगनाथन के काम की सराहना नहीं करेगा? मैं उनके प्रयासों को, उनके प्रेरणादायक काम के लिए दिल से बधाई देता हूं।

बस कंडक्टर और ग्रीन क्रूसेडर, को  “इको योद्धा” सम्मान भी मिला है,इस मसले पर की गई बातचीत में ट्री मैन ने कहा की  मैं खुश हूं और गर्व महसूस करता हूं कि हमारे प्रधानमंत्री ने मन की बात ’के दौरान मेरे काम को पहचाना और सराहा।

यह भी पढ़ें : फिर कट्टरता का शिकार बना इंडोनेशिया , Church को बनाया गया निशाना

Related Articles

Back to top button