जानिए क्यों 125 साल पुराने न्यू यॉर्क मेट्रो को अब वज़ूद के लिए करना पड़ रहा है संघर्ष

न्यूयॉर्क : अमेरिकी की 125 साल पुरानी यह पुरानी मेट्रो शहर की ज़िंदगी का हिस्सा बन चुकी है। न्यूयॉर्क सिटी सबवे के नाम से मशहूर यह दुनिया की उन गिनी-चुनी मेट्रो में से एक है, जो साल भर चलती हैं। यह ऐतिहासिक मेट्रो अब पेण्डामिक से बेबस है और अब बंद होने की कगार पर है।

स्टार ट्र्रिब्यून के मुताबिक सवा सौ साल में ना रुकने वाली इस मेट्रो में पेण्डामिक से पहले औसतन पचपन लाख लोग रोज इससे सफर करते थे। इस मसले के जानकारों के मुताबिक पेण्डामिक के दौरान और मौजूदा वक़्त में यह आकड़ा महज़ सवा तीन लाख ही रह गया है।

125 साल से चल रही इस मेट्रो में रोज़ाना अस्सी लाख लोग होते थे सवार

न्यूयॉर्क सिटी ट्रांजिट के सीनियर अफसर सारा फीनबर्ग ने मीडिया को दिए अपने बयान में कहा कि इस महामारी ने मेट्रो के वजूद पर खतरा पैदा कर दिया है। लगातर गिरते पैसेंजर काउंट का अध्ययन करने की जिम्मेदारी मेट्रो मैनेजमेंट ने मैकिंसे एंड कंपनी को दी थी। जिसने अपनी रिसर्च में बताया कि अस्सी फीसद से ज़्यादा पैसेंजर 2025 से पहले मेट्रो में वापस आने वाले नहीं हैं। इस बाद की वजह बताते हुए कंपनी ने कहा कि ज्यादातर लोगों ने मेट्रो से सेफ और किफायती ट्रांसपोर्ट अपना लिए हैं।

यह भी पढ़ें : प्वाइंट्स टेबल में टॉप पर पहुंची दिल्ली कैपिटल्स (DC), पंजाब किंग्स को 7 विकेट से हराया

इस कड़ी में पब्लिक हेल्थ कैंपेनर निक कहते हैं कि मेट्रो लोगों को यह भरोसा कैसे दिलाएगा कि वह सेफ है। मेट्रो के ज्यादातर कर्मचारी भी यही मानते हैं कि जल्द इसे बंद कर दिया जाएगा। कोविड के दौरान अमेरिका में मेट्रो इंफेक्शन के हॉट स्पॉट बन गए थे। जिससे कई लोग इंफेक्ट हुई और कइयों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा। मेट्रो मैनेजमेंट के मुताबिक सरकार ने 14 अरब डॉलर की मदद दी है , जिससे यह बस कुछ और महीनों ही चल सकेगी।

यह भी पढ़ें : प्वाइंट्स टेबल में टॉप पर पहुंची दिल्ली कैपिटल्स (DC), पंजाब किंग्स को 7 विकेट से हराया

Related Articles