पहनी धोती तो मॉल के अंदर नहीं मिली एंट्री, FB पर बयां किया दर्द

0

लखनऊ। हिंदुस्तान में ही हिन्दुस्तानी कल्चर की कितनी रेस्पेक्ट है आज के दौर में इसका नमूना कोलकता के क्वेस्ट मॉल में देखने को मिला। यहां धोती पहनकर मॉल में घुसने नहीं दिया गया। यहां घटना का फिल्मकार आशीष अविकुन्तक के साथ हुई। जो धोती पहनकर मॉल गए थे। इस घटना का जिक्र आशीष की दोस्त देबलीना सेन ने फेसबुक पर किया।

देबलीना

देबलीना ने फेसबुक पर एक पोस्ट और वीडियो शेयर की

देबलीना ने अपनी एक पोस्ट शेयर की और साथ ही एक वीडियो भी डाला। इस वीडियो में हम देख सकते हैं कि धोती को लेकर आशीष और गार्ड के बीच बहस हो रही है।  पोस्ट में लिखा गया है – ‘रेस्त्रां के बाद अब मॉल में घुसने को लेकर पाबंदी देखी जा रही है। धोती और कुर्ता पहने शख्स को आज कोलकाता के क्वेस्ट मॉल में घुसने नहीं दिया गया। बताया गया है कि इस मॉल में किसी के धोती या लुंगी पहनकर आने पर मनाही है।’

देबलीना ने आगे लिखा ‘बाहर खड़े गार्ड ने उसे रोका और फिर वॉकी-टॉकी पर किसी से बात करके तब इस व्यक्ति को अंदर जाने दिया जब वह अंग्रेज़ी में बहस करने लगा।’

इसके आगे लिखा गया है, ‘अंदर हमने मैनेजमेंट टीम से संपर्क किया और उसने हमें साफ कहा कि वे लोग धोती और लुंगी पहने हुए लोगों को अंदर नहीं आने देते। इसके बाद जब उस जगह की मैनेजर सामने बैठकर बात करने लगी तो उसने मुझे कड़े तरीके से कहा कि मैं वीडियो नहीं बना सकती, जबकि किसी भी पब्लिक स्पेस पर रिकॉर्ड करने का मेरा अधिकार है। तब हमने तय किया बेहतर है कि इस बकवास जगह से चला जाए।’

भारत में इस तरह की घटना होना बेहद शमर्नाक है। हम पाश्चात्य संस्कृति अपनाने के चक्कर में अपनी परम्परा को भूलते जा रहे हैं। एक इन्सान अगर धोती पहन कर मॉल चला गया तो के उसे एंट्री नहीं मिलनी चाहिए। ये कैसा नस्लीय भेदभाव है।  आपको बता दें कि इससे पहले दिल्ली के गोल्फ क्लब में मेघालय की एक महिला को एंट्री नहीं मिली क्योंकि उसने परम्परागत परिधान पहन रखा था।

loading...
शेयर करें