कुमारस्वामी ने नकार दिया राहुल-सोनिया का ये प्रस्ताव, कांग्रेस को माननी पड़ी जेडीएस की शर्त

बेंगलुरु: हाल ही में निर्वाचित हुये कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने सोमवार रात कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और सोनिया गांधी से मुलाकात की, बैठक में तीनो राजनीतिक दिग्गजों ने मंत्रिमंडल के स्वरुप और विभागों के बंटवारे की बात की। सूत्रों के अनुसार, कांग्रेस के दो उपमुख्यमंत्री बनाने वाले प्रस्ताव को जेडीएस ने स्पष्ट रूप से नकार दिया है। हालांकि कांग्रेस एक उपमुख्यमंत्री समेत 20 मंत्रियों के पदों को स्वीकार करने के लिये तैयार हो चुकी है।

कर्नाटक में सरकार बनाने का दावा पेश कर चुके इस राजनीतिक गठबंधन में कांग्रेस के 77 और जेडीएस के 37 विधायक हैं। सूत्रों के अनुसार, दोनों ही पार्टियों के पोर्टफोलियो के बंटवारे पर किए गए फैसले को मंगलवार को  जनता के सामने रखा जायेगा।

राहुल गांधी के आवास पर चल रही एक मीटिंग के बाद कुमारस्वामी ने बताया कि राहुल गांधी और सोनिया गांधी समेत अन्य मंत्री शपथ ग्रहण समारोह में शिरकत करेंगे। कुमारस्वामी 23 मई को बेंगलुरु में शाम 4:30 बजे शपथ ग्रहण करेंगे।

माना जा रहा है कि ये शपथ ग्रहण समारोह विपक्षी एकता का एक बड़ा मंच भी साबित हो सकता है। कुमारस्वामी ने मंगलवार को दिल्ली पहुंचते ही बीएसपी अध्यक्ष मायावती, आप के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल को इस भव्य समारोह में शामिल होने का न्योता दिया है। इनके अलावा इस समारोह में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव भी शिरकात लेंगे।

इस समारोह की सार्थकता किसी सियासी जंग के मैदान से कम नहीं प्रतीत हो रही, जहां भाजपा विरोधी सभी पार्टियों के मुख्यमंत्री भी समारोह में उपस्थित होंगे। सूची में ममता बनर्जी, शरद पवार, चंद्रबाबू नायडू, कैप्टन अमरेंदर सिंह, चंद्रशेखर राव, नवीन पटनायक समेत अन्य राजनेता भी शामिल हैं।

Related Articles