लेडी डॉक्टर बनी हैवान, मेड पर फेंकती थी गर्म पानी

0

नई दिल्ली– आए दिन दिल्ली में घटनाएं बढ़ती जा रही है फिर वो चाहे रेप हो, मर्डर हो या लूटपाट, चोरी, या अत्याचार थमने का नाम नही ले रही हैं। ऐसा ही एक मामला सामने आया है झारखंड की नाबालिग लड़की का। जिसपर एक लेडी डॉक्टर रोज़ ज़ुल्म करती थी। नाबालिग की कहानी से किसी की भी रूह कांप उठे, लेकिन डॉक्टर महिला को जरा भी फर्क नहीं पड़ता था। बताया जा रहा है इस लड़की को डॉक्टर के पास एक प्लेसमेंट एजेंसी के जरिए चार महीने पहले पहुंचाया गया था। झारखंड में उसका परिवार बेहद गरीबी में दिन काट रहा था।

मेड का काम करने वाली झारखंड की नाबालिग लड़की को दिल्ली में महिला आयोग (DCW) की टीम ने मॉडल टाउन में एक लेडी डॉक्टर के घर से 14 साल की इस लड़की को मुक्त कराया है। पुलिस ने लेडी डॉक्टर को गिरफ्तार कर लिया है आयोग की 181 हेल्पलाइन पर शुक्रवार को इस बारे में कॉल आई। DCW की अध्यक्ष स्वाति जयहिंद के नेतृत्व में एक टीम लड़की के पास पहुंची।

‘डॉक्टर मुझ पर गर्म पानी फेंकती थीं

लड़की ने इन्हें बताया कि उसे काम के बदले पैसे नहीं मिलते थे, खाने को दिन में सिर्फ दो बासी रोटियां मिलत थी। इस ठंड में न तो उसके पास स्वेटर था न कंबल। उसने आरोप लगाया कि मुझे गर्म प्रेस से जलाया जाता था। लड़की ने बताया, ‘डॉक्टर मुझ पर गर्म पानी फेंकती थीं।’ लड़की के शरीर पर घाव भी देखने को मिले। आरोप है कि उसकी आंखों में कैंची भी मारी गई। पुलिस ने जेजे ऐक्ट के तहत केस दर्ज कर डॉक्टर निधि को अरेस्ट कर लिया। वह डेंटिस्ट हैं। स्वाति ने कहा कि लड़की की पूरी मदद की जाएगी।

गवाह हैं शरीर पर बने घाव

पीड़िता ने बताया मार से लड़की के हाथ काले पड़ गए, उनमें जख्म भी हैं। आंखों में सूजन, चेहरे पर कट के निशान से वह तड़प रही थी। यह 14 साल की बच्ची पिछले चार महीने से रोजाना यातनाएं झेल रही थी। दिल्ली के मॉडल टाउन इलाके से महिला डॉक्टर की चंगुल से आजाद होने के बाद नाबालिग बच्ची ने अपना दर्द बयां करते हुए बताया, ‘मेरी मालकिन मुझे रोज बुरी तरह पीटती थी। मालकिन मुझे गुस्से में काटती भी थी। उन्होंने मुझे कैंची से काटा, आंख पर मारा, मेरी आंखें सूजी हुई है। बहुत दर्द होता है। लड़की ने रोते हुए कहा कि मालकिन ने कई बार गला भी दबाया। यही नहीं, एक दिन पहले मालकिन गुस्से में उसके ऊपर बैठ गई और कई बार सिर पर वजन तोलने वाली मशीन से वार किया। नाबालिग ने बताया कि महिला उसके ऊपर थूकती थी और अपने बच्चों से भी ऐसा करवाती थी। कई बार कई दिनों तक खाने को नहीं दिया जाता था। जब कभी मिला तो पुरानी-बासी रोटियां दी गईं। लड़की बुरी तरह से कुपोषण का शिकार थी। उसकी मालकिन इतनी सर्दी में भी उसको स्वेटर नहीं पहनने देती थी और रात में ओढ़ने को कंबल भी नहीं देती थी। उस लड़की के शरीर पर बने घाव और निशान इस बात की गवाही दे रहे थे कि उसके साथ किस तरह का जुल्म हुआ है। उसको घर में कैद करके रखा गया था और काम के पैसे भी नहीं दिए।

 

 

loading...
शेयर करें