महिला IAS ने सोशल मीडिया पर बयान किया बड़ा दर्द, सीनियर पर लगाया यौन शोषण का आरोप

0

नई दिल्ली। एक ओर जहां भाजपा सरकार महिला उत्थान और उत्पीड़न को ख़त्म करने का दम भरती है। वहीं भाजपा शासित राज्य में एक महिला आईएएस ने अपने सीनियर द्वारा उत्पीड़न और यौन शोषण की हकीकत बयान की है। महिला अधिकारी का कहना है कि इस बात की जानकारी उन्होंने राष्ट्रपति कार्यालय और भारत सरकार को शिकायती पत्र के माध्यम से दी। लेकिन अभी तक मामले पर कोई भी संज्ञान नहीं लिया गया। इसलिए पीड़ित महिला अफसर ने सोशल मीडिया का सहारा लेते हुए अपने ऊपर गुजर रही आप बीती को फेसबुक के माध्यम से जगजाहिर किया।

मोदी सरकार के खिलाफ फिर हमलावर हुई कांग्रेस, कहा – खुल…

महिला आईएएस

मामला हरियाणा का है। महिला आईएएस के मुताबिक आरोपी अफसर ने उनको उल्टा टांगने और उनकी वार्षिक गोपनीय रिपोर्ट खराब करने की धमकी भी देते हैं। साथ ही उन्होंने आशंका जताई है कि आरोपी अफसर के साथी उन पर रात में हमला कर सकते हैं।

अपनी शिकायत में रानी नागर ने आरोपी अफसर के चेंबर में लगे CCTV कैमरे की जांच किए जाने और उपयुक्त सुरक्षा मुहैया कराने की अपील भी की है।

उधर सुनील के गुलाटी ने अपने ऊपर लगाए गए आरोपों को खारिज करते हुए कहा है कि वह काम नहीं करना चाहतीं, इसलिए उन पर झूठे आरोप लगा रही हैं। बता दें महिला अफसर ने अभी तक इस बाबत पुलिस में कोई भी शिकायत दर्ज नहीं कराई है।

अब 24 घंटे पहले मिल जाएगा आंधी-तूफान का हाई अलर्ट

खबरों के मुताबिक़ महिला आईएएस ने रविवार को एक के बाद एक फेसबुक पर सात पोस्ट लिखकर अपने यौन शोषण का मुद्दा उठाया है। फेसबुक पोस्ट में उन्होंने शिकायती मेल, विभागीय दस्तावेज भी शेयर किए हैं।

शिकायतकर्ता महिला आईएएस के मुताबिक, 10 मई को उन्होंने रेवाड़ी के कोसली तहसील में SDJM की अदालत में याचिका दायर की थी, जिसमें उन्होंने सीआरपीसी की धारा 164 के तहत अपना बयान और DVD सहित अन्य दस्तावेज बतौर सबूत जमा कर दिए थे।

शिकायत करने वाली महिला आईएएस अधिकारी पशुपालन विभाग में एडिशनल सेक्रेटरी के पद पर नियुक्त हैं, जबकि उन्होंने सुनील के गुलाटी नाम के जिस अफसर पर यौन शोषण का आरोप लगाया है, वह इसी विभाग में एडिशनल चीफ सेक्रेटरी हैं।

मोदी सरकार में गिरी स्मृति ईरानी पर गाज, बीजेपी में अब…

अपने फेसबुक पोस्ट में शिकायतकर्ता महिला आईएएस ने कहा है कि सुनील गुलाटी उनको बेवजह तंग करते हैं। गाहे-बगाहे अपने कार्यालय में बुलाकर घंटों बिठा कर रखते हैं और उनको अक्सर धमकाया जाता है।

महिला अफसर की शिकायत से जाहिर होता है कि सुनील गुलाटी उनके द्वारा सरकारी फाइलों में विभाग के अंदर हो रही गलतियों के बारे में लिखे जाने से खुश नहीं हैं। महिला अधिकारी ने गुलाटी पर बेवजह दबाव बनाने और अभद्र भाषा के प्रयोग का आरोप भी लगाया है।

शिकायतकर्ता ने अपनी शिकायत में सुनील के गुलाटी और उनके साथियों पर भी यौन शोषण के आरोप लगाए हैं, हालांकि उन्होंने गुलाटी के किसी भी साथी का नाम शिकायत में नहीं लिखा है।

वह फेसबुक पोस्ट में लिखती हैं, ‘मैं आप सभी को मेरे साथ हो रहे यौन शोषण के बारे में सूचित करना चाहती हूं। मेरे उच्च अधिकारी श्री सुनील के गुलाटी जी एवं इनके साथियों द्वारा मेरा यौन शोषण किया जा रहा है।’

loading...
शेयर करें